चावल के शौक़ीन हो जाएं सावधान, ज़्यादा खाने से बढ़ सकती है मुसीबत

लोग अगर खाने में चावल ना खाएं तो उन्हें कुछ अधूरा-अधूरा सा लगता है. उनके लिए खाने में चावल का होना अनिवार्य है. चावल, रोटी, दाल और सब्जी एक भरपूर डाइट मानी जाती है. लेकिन अगर कुछ लोगों को खाने में चावल ना मिले तो उनका खाना पूरा नहीं होता. खाने में चावल का ना होना उनके लिए दाल में तड़का ना लगने के बराबर है.

हॉवर्ड स्कूल ऑफ़ पब्लिक हेल्थ की स्टडी के मुताबिक अगर  आप रोज एक कटोरी पॉलिश चावल को खाते हैं तो टाइप 2 डायबिटीज़ होने का ख़तरा अधिक रहता है. इतना ही नहीं, इससे वज़न भी बढ़ने लगता है. इसलिए चावल का सेवन सीमा में रहकर ही करना चाहिए. केवल एक कटोरी चावल को ही अपने डाइट में शामिल करें. इससे ज़्यादा चावल खाना आपकी सेहत को नुकसान पंहुचा सकता है. तो आईये जानते हैं ज़्यादा चावल खाने के 5 बड़े नुकसान.

जैसा कि हम सभी जानते हैं चावल में कैलोरी की मात्रा अधिक होती है. हम आपको बता दें कि पके हुए चावल में 10 चमच्च के बराबर कैलोरी होती है. इसलिए चावल को अगर अधिक मात्रा में खायेंगे तो डायबिटीज़ होने का ख़तरा रहता है.

कुक्ड चावल में कार्बोहाइड्रेट की मात्रा ज़्यादा होती है. अधिक मात्रा में कार्बोहाइड्रेट खाने पर वज़न बढ़ने लगता है.

चावल को खाने पर जितनी जल्दी पेट भरता है उतनी ही जल्दी खाली भी हो जाता है. कहने का मतलब है कि चावल जल्दी पच जाता है जिससे कि समय से पहले ही भूख लगने लगती है. ऐसे सिचुएशन में लोग ज़्यादा खा लेते हैं और उन्हें पता भी नहीं चलता.

चावल में विटामिन-सी की मात्रा बहुत कम होती है. विटामिन-सी हड्डियों को मजबूत बनाता है. इसलिए चावल खाने से हमारी हड्डियों को कोई फ़ायदा नहीं पहुंचता.

चावल का कोई स्वाद ना होने की वजह से लोग इसका सेवन साल्टी चीज़ों के साथ अधिक करते हैं. ज़्यादा साल्टी और चावल एक साथ खाना सेहत के लिए हानिकारक होता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.