फिरौती ना मिलने पर युवक की हत्या का पुलिस ने किया खुलासा, दो आरोपी गिरफ्तार

हरिद्वार। हरिद्वार के बहादराबाद थाना क्षेत्र में पैथोलॉजी लैब संचालक कार्तिक का रहस्यमयी परिस्थितियों में अपहरण के बाद हत्या के मामले का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। मामले में हिरासत में लिए गए दो संदिग्ध व्यक्तियों से पूछताछ की गई को उहोंने अपना जुर्म कबूल किया गया। आरोपियो ने बताया कि कार्तिक की हत्या एक दिन पहले ही उन्होंने गला दबाकर की थी। उन्होंने कार्तिक की लाश को किराए पर लिए गए मकान में बोरे में रखा था। ये दोनो आरोपी मृतक कार्तिक के साथ ही काम करते थे।

हरिद्वार एसएसपी अजय सिंह  ने घटना का खुलासा करते हुए बताया कि बहादराबाद निवासी प्रेमचन्द ने मे तहरीर दी थी की उनका पुत्र कार्तिक 12 जनवरी की सुबह से अपनी पैथोलोजी लेब से गायब है। जिसके बाद पुलिस ने मामले में गुमशुदगी दर्ज पर तलाश शुरू की। लेकिन इस मामले में तब नया मोड़ आया जब कार्तिक के मोबाइल से ही उसकी मां को किसी अनजान व्यक्ति ने कॉल कर 70 लाख रुपए की फिरौती मांगी। साथ ही पुलिस को न बताने की चेतावनी दी। जिसके बाद परिजनों ने मामले की सूचना पुलिस को दी।

जिसके बाद पुलिस की कई टीमें गठित की गई। पुलिस द्वारा आसपास के सीसीटीवी कैमरे खंगाले गए और मोबाइल से ट्रांजैक्शन के आधार पर दो संदिग्ध व्यक्तियों को हिरासत में लेकर पूछताछ की गई। जिसके बाद उन्होंने सारी सच्चाई उगल दी। उन्होंने बताया गया कि उन्होंने कार्तिक की हत्या एक दिन पहले ही गला दबाकर की थी। दोनों अभियुक्त निपेंद्र और शहादत बिजनौर के रहने वाले हैं और कार्तिक के साथ ही कार्य करते थे। एसएसपी ने खुलासा करने वाली टीम को 10 हजार का इनाम देने की घोषणा की गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.