डिलीवरी ब्वॉय ही लगा रहे थे कंपनी को चुना, डिलीवरी के नाम पर इस तरह करते थे घपला

देहरादून। राजधानी देहरादून में शातिरों के हौसले इस कदर बुलंद हैं कि वे जिस कंपनी में काम करते हैं उसी को चुना लगाने से भी बाज नहीं आ रहे हैं। मामला दून का है जहां ऑनलाइन सामान की डिलीवरी करने की आड़ में डिलीवरी बॉयज कंपनी को ही चूना लगा देते थे। पुलिस ने आजियो कंपनी को लाखों रुपये का चूना लगाने वाले ऐसे चार डिलीवरी ब्वाय को गिरफ्तार किया है। चारों ने कंपनी से कुछ ही दिनों में करीब 18 लाख रुपये की धोखाधड़ी की है। आरोपितों के पास से कंपनी का माल और कुछ पालीथिन बरामद की गई हैं।

दरअसल, आजियो कंपनी शैडोफैक्स नाम की कुरियर कंपनी के माध्यम से अपने सामान की डिलीवरी करती है। कंपनी में काम करने वाले डिलीवरी बॉयज खुद कंपनी से सामान मंगवाते थे और फिर पार्सल को खोलकर उसमें रद्दी भरकर वापस कंपनी को भेज देते थे। शैडोफैक्स कंपनी के एरिया मैनेजर सुरेंद्र प्रताप सिंह ने जब देखा कि कई दिनों से ग्राहकों को भेजे गए पार्सल वापस आ रहे हैं। कंपनी ने जब इस मामले की अपने स्तर पर जांच की तो पता चला कि इसी प्रकार से अभी तक करीब 18 लाख रुपये का सामान गायब हुआ है। डिलीवरी ब्वाय कहते हैं कि ग्राहक ने सामान वापस कर दिया है, लेकिन जब इन पार्सल को खालते हैं तो इनमें रद्दी या खराब सामान निकलता है। जिसके बाद शैडोफैक्स कंपनी के एरिया मैनेजर सुरेंद्र प्रताप सिंह ने धारा चौकी में मामले की तहरीर दी। शहर कोतवाली पुलिस ने शनिवार रात को मुकदमा दर्ज आरोपितों की तलाश शुरू की। मोबाइल लोकेशन के आधर पर इन्हें त्यागी रोड से गिरफ्तार किया गया।

शहर कोतवाल विद्याभूषण नेगी के अनुसार,  आरोपितों की पहचान सलीम अली निवासी घड़ी गोखन, मुजफ्फरनगर उत्तर प्रदेश, जयप्रकाश उर्फ दीपक झा निवासी ग्राम कनहोई थाना घनश्यामपुर जनपद दरभंगा बिहार, रोहन उर्फ दीपेंद्र चौधरी निवासी गोशन नगर, नागवास जनपद मधुबनी बिहार और बंटी निवासी खगौल रोड रामपुर दीनापुर थाना खगोल रामपुर पटना बिहार के रूप में हुई है। कुछ अन्य आरोपित अभी फरार बताए जा रहे हैं। आरोपितों के पास से कंपनी का सामान भी बरामद हुआ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.