Chardham Yatra 2023: अप्रैल से होगा चारधाम यात्रा का आगाज, जानें किस दिन चारों धाम के कपाट खुलने की तिथि होगी तय

लक्ष्मण सिंह नेगी

ऊखीमठ। महाशिवरात्रि पर्व यानी 18 फरवरी को शीतकालीन गद्दीस्थल ओंकारेश्वर मंदिर ऊखीमठ में 12वें ज्योर्तिलिंग में शामिल भगवान केदारनाथ के कपाट खुलने की तिथि तय की जाएगी। इसे लेकर बदरी-केदार मंदिर समिति ने सभी तैयारियों में जुट गई है।

बता दें कि प्रतिवर्ष भगवान केदारनाथ के कपाट खुलने एवं बंद होने की तिथि महाशिवरात्रि को तय की जाती है। इसके लिए भगवान ओंकारेश्वर मंदिर को सजाने की तैयारियां शुरू हो गई है। इस दौरान भक्तजन भगवान आशुतोष की पूजा अर्चना, बेल पत्र और जलाभिषेक करेंगे।

22 अप्रैल से होगा चारधाम यात्रा का आगाज

इस बार चारधाम यात्रा का आगाज 22 अप्रैल से हो रहा है 26 जनवरी को बदरीनाथ और 18 फरवरी को केदारनाथ धाम के कपाट खुलने की तिथि तय होगी, जबकि अप्रैल में अक्षय तृतीया के दिन गंगोत्री और यमुनोत्री मंदिर के कपाट खुलेंगे।

बदरीनाथ केदारनाथ मंदिर समिति के अनुसार 26 जनवरी को बसंत पंचमी के दिन नरेंद्रनगर राजदरबार में पंचांग गणना के बाद बदरीनाथ धाम के कपाट खुलने की तिथि तय की जाएगी। बदरीनाथ केदारनाथ मंदिर समिति के मीडिया प्रभारी डॉ. हरीश गौड़ ने बताया कि नरेंद्रनगर स्थित राजमहल में सुबह दस बजे से आयोजित धार्मिक समारोह में राजपरिवार सहित मंदिर समिति के पदाधिकारियों, डिमरी धार्मिक केंद्रीय पंचायत व श्रद्धालुओं की उपस्थिति में राज पुरोहित आचार्य कृष्ण प्रसाद उनियाल पंचांग गणना के बाद विधिविधान से बदरीनाथ धाम के कपाट खुलने की तिथि तथा मुहुर्त का अवलोकन करेंगे।

वहीं, 18 फरवरी को शिवरात्रि पर्व पर ओंकारेश्वर मंदिर ऊखीमठ में केदारनाथ धाम के कपाट खुलने की तिथि तय होगी। गंगोत्री व यमुनोत्री धाम के कपाट परंपरागत रूप से अक्षय तृतीया को खुलते है। इस बार अक्षय तृतीया 22 अप्रैल को है। गंगोत्री व यमुनोत्री मंदिर समिति की ओर से दोनों मंदिरों के कपाट खुलने की तिथि व समय घोषित किया जाएगा।

आगामी यात्रा के सफल संचालन के लिए जिला प्रशासन व मन्दिर समिति ने अभी से तैयारियां शुरू कर दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.