UP Vidhan Sabha Chunav: वोट डालना है तो 5 जनवरी तक है मौका, ऐसे बनवाएं वोटर ID कार्ड

[ad_1]

लखनऊ. कोरोना संक्रमण की  तीसरी लहर के बीच सभी दलों ने विधानसभा चुनाव (UP Meeting Election 2022) करवाने के लिए हामी भर दी है. देश के मुख्य निर्वाचन आयुक्त सुशीली चंद्रा (CEC Sushil Chandra) ने गुरुवार को लखनऊ (Lucknow) में प्रेस कांफ्रेंस करते हुए ये चिंता जाहिर की कि देश के सबसे बड़े प्रदेश में 2017 के विधानसभा चुनाव में 59 फीसदी लोगों ने मतदान किया था. यह चिंताजनक है. इस बार अगर मतदाता मतददन करना चाहता है तो वो अपना नाम वोटर लिस्ट में जुड़वा सकता है. इसके लिए आखिरी तारीख 5 जनवरी है. मतदाता को अपने निकटतम बीएलओ से संपर्क करके अपना नाम मतदाता लिस्ट में जुड़वाना होगा. या फिर वो ऑनलाइन भी इसके लिए आवेदन कर सकता हैं.

अगर आपका नाम वोटर लिस्ट में है और आपके पास वोटर आईडी कार्ड नहीं है तो फिर भी वोट दाल सकते हैं. उसके लिए आपके पास आधार कार्ड, पैन या फिर ऑफिसियल आईडी कार्ड का भी प्रयोग कर सकते हैं. मुख्य चुनाव आयुक्त ने कहा कि देश के सबसे बड़े राज्य में मतदान को लेकर अनुत्सुकता परेशान करने वाला है. जिस राज्य में राजनीति को लेकर लोग इतने जागरूक हैं, अगर वे सुस्त हैं तो वसीहया चिंताजनक हैं.

5 जनवरी को जारी होगा वोटर लिस्ट
चुनाव आयोग ने कहा कि यूपी में मतदाता पंजीकरण का काम 5 जनवरी तक चल रहा है. 5 जनवरी को फाइनल निर्वाचक नामावली प्रकाशित होगी. इस बार 15 करोड़ से अधिक अभी तक उत्तर प्रदेश में मतदाताओं की संख्या है. आयोग ने बताया कि निर्वाचक नामावली प्रकाशित होने के बाद भी लोग अपना नाम जुड़वा सकते हैं. इस बार 52.8 लाख नए मतदाता जुड़े हैं. इसने कहा कि जनवरी 2022 को 18 साल के हो रहे मतदाता अपना पंजीकरण जरूर करें.

चुनाव आयोग की प्रेस कॉन्फ्रेंस की अहम बातें:
मतदाता जागरूकता और सुरक्षा व्यवस्था संबंधी सभी महत्वपूर्ण बिंदुओं पर बातचीत की गई
जीएसटी, एनफोर्समेंट डायरेक्टरेट समेत तमाम विभागों से बातचीत की गई
प्रमुख सचिव डीजी पुलिस हेल्थ सेक्रेट्री से भी मुलाकात की है
सभी राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों ने कोविड-19 प्रोटोकॉल के पालन से समय पर चुनाव होने की बात कही
कुछ राजनीतिक दलों ने रैलियों में कोरोना के उल्लंघन का भी जिक्र किया
पोलिंग बूथों पर महिला पुलिस कर्मियों की पर्याप्त व्यवस्था की बात कही
प्रशासन के पक्षपाती रवैया की भी राजनीतिक पार्टियों ने शिकायत की
कुछ राजनीतिक पार्टियों ने उनकी पार्टियों की रैलियों पर रोक लगाने का भी जिक्र किया
रैलियों में हेट स्पीच और पेड न्यूज़ पर भी चिंता जाहिर की
भारत निर्वाचन आयोग ने राजनीतिक पार्टियों के सभी बिंदुओं पर विचार विमर्श किया है

आयोग ने और क्या-क्या कहा
80 वर्ष से अधिक और दिव्यांग मतदाताओं को घर बैठे बैलेट पेपर से वोट देने की अनुमति मिलेगी
सभी पोलिंग बूथों पर मतदान संबंधित सभी सुविधाएं उपलब्ध कराई जाए
यूपी के 800 पोलिंग बूथ ऐसे होंगे जहां पर सभी कर्मचारी महिला ही होंगे
महिला सशक्तिकरण के लिहाज से चुनाव आयोग एक बड़ा कदम उठा रहा है
11 तरह के पहचान पत्रों के जरिए मतदाता मतदान कर सकेंगे
उत्तर प्रदेश का पूरा चुनाव ईवीएम वीवीपट के थ्रू ही होगा
यूपी में 1 लाख पोलिंग बूथों पर वेबकास्टिंग कराई जाएगी
मतदान प्रतिशत को बढ़ाने के लिए आयोग प्रयास कर रहा है
यूपी में 86 परसेंट लोगों को पहली डोज और 49% लोगों को दोनों डोज़ लग चुकी हैं
पोलिंग बूथ पर ड्यूटी पर लगाए गए सभी अफसर 100% वैक्सीनेटेड होंगे
मतदान के समय में एक घंटा बढ़ाया जाएगा
सुबह 8:00 बजे से शाम 6:00 बजे तक मतदान कर सकेंगे लोग
3 साल तक एक ही जगह पर जमे हुए अफसरों के होंगे तबादले
सी विजिल ऐप के जरिए चुनाव में गड़बड़ियों पर नजर रखी जाएगी
आपराधिक छवि के लोगों को चुनाव लड़ने से पहले अपने बारे में अखबारों और टीवी के माध्यम से जानकारी देनी होगी
अपने ऊपर दर्ज मुकदमों के बारे में जनता को बताना होगा

आपके शहर से (लखनऊ)

उत्तर प्रदेश

उत्तर प्रदेश

टैग: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव

.

[ad_2]

Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published.