UP Chunav: BJP, कांग्रेस, सपा, बसपा, सभी का कहना- तय समय पर हों चुनाव, लेकिन…

[ad_1]

लखनऊ. उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव (Uttar Pradesh Assembly Election) को लेकर लखनऊ (Lucknow) में चुनाव आयोग की राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों के साथ महत्वपूर्ण बैठक हुई है. बैठक में भारत निर्वाचन आयोग (Election Commission of India) की 13 सदस्य टीम ने बैठक कर सभी राजनीतिक दलों से चुनाव कराए जाने को लेकर सुझाव मांगा. इस दौरान सभी ने समय पर चुनाव कराए जाने की बात कही है. राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों की ओर से कहा गया कि यूपी में कोविड नियमों का पालन कराते हुए समय से चुनाव होना चाहिए. कांग्रेस ने यपी के अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी चुनाव व्यवस्था से हटाने की मांग की है.

कोरोना की तीसरी लहर और ओमिकॉन के खतरे की संभावनाओं को लेकर चुनाव आयोग ने पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनावों पर एक दिन पहले ही स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से वार्ता की थी. इसके बाद लखनऊ में राजनीतिक दलों के साथ बैठक हुई. मुख्य निर्वाचन आयुक्त सुशील चंद्रा की अगुवाई में पहुंची टीम में राजीव कुमार, अनूप चंद्र पांडे, चंद्रभूषण, नितेश व्यास, टी श्रीकांत समेत आला अधिकारी लखनऊ पहुंचे. योजना भवन में हुई बैठक में भाजपा, सपा, बसपा और कांग्रेस समेत अन्य क्षेत्रीय दलों के प्रतिनिधियों ने अपना पक्ष रखा. इसमें चुनाव समय पर कराने पर ही जोर दिया गया.

बीएसपी बोली समय पर हो चुनाव

बहुजन समाज पार्टी ने मुख्य निर्वाचन आयुक्त को ज्ञापन दिया है, जिसमें कहा कि चुनाव समय पर ही प्रदेश में होने चाहिए. कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर भी कहा है कि जिस तरह से रैलियों और रोड शो के जरिए भीड़ जुटाई जा रही है कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं. उससे पूरा देश स्तब्ध है.

सपा बोली कोविड नियमों के पालन के साथ हों चुनाव

सपा प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल ने कहा कि चुनाव समय पर हों और कोरोना गाइडलाइन का इसमें पूरी तरह से पालन हो. 80 वर्ष के ऊपर के मतदाता व दिव्यांग मतदाताओं की सूची सभी दलों को दी जाए. क्रिटिकल बूथों की लिस्ट भी राजनीतिक दलों को दी जाए. उन्होंने कहा कि मतदान के बाद सही रिजल्ट न निकलने पर दोबारा मतदान होना चाहिए.

सपा ने अधिकारियों पर उठाए सवाल

सपा प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि जिन अधिकारियों ने प्रधानमंत्री, गृहमंत्री और मुख्यमंत्री की जनसभाओं में जनता को जुटाने में दबाव डाला है उन अफसरों के लिस्ट चुनाव आयोग को दी गई है. इस पर संज्ञान लिया जाना चाहिए.

कांग्रेस बोली- पुलिस के भरोसे नहीं हो सकता यूपी का चुनाव

कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल ने चुनाव आयोग के सामने यूपी पुलिस पर सवाल उठाए. कांग्रेस ने कहा कि यूपी पुलिस के भरोसे यूपी में विधानसभा के चुनाव नहीं हो सकते. चुनाव केंद्रीय पुलिस बल की निगरानी में होने चाहिए.

अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी को हटाने की मांग

कांग्रेस ने यूपी के अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी को उनके पद से हटाये जाने की मांग भी चुनाव आयोग से की है. कांग्रेस ने कहा कि अवनीश अवस्थी को चुनावी व्यवस्था से एकदम अलग रखा जाए. वह केंद्रीय मंत्रियों के ट्वीट को री-ट्वीट करके सरकारी पद का दुरपयोग कर रहे हैं. काशी विश्वनाथ मंदिर के लोकार्पण कार्यक्रम में PM के कार्यक्रम पर जो ट्वीट अवनीश अवस्थी ने किये और साथ ही अन्य सरकारी योजनाओं पर री-ट्वीट कर सरकार का लगातार महिमामंडन करते रहे हैं.

बीजेपी ने बूथों पर महिला पुलिस की तैनाती की रखी बात

चुनाव आयोग से मुलाकात के बाद बीजेपी उपाध्यक्ष और MLC अरविंद शर्मा ने कहा कि उन्होंने महिलाओं की सुरक्षा के लिए महिला पुलिस की बूथों पर नियुक्ति पर्याप्त रहे इसको लेकर मांग रखी है. साथ ही महिला वोटरों का वेरिफिकेशन कराने व
कोरोना के मामले के चलते भीड़ भाड़ वाले इलाकों में पोलिंग बूथ की समीक्षा कराने की बात रखी. उन्होंने कहा कि एक ही परिवार के सदस्य अलग अलग बूथ पर जाते हैं. इसमें ये सुनिश्चित हो कि एक परिवार के लोग एक ही बूथ पर भेजे जाएं.

CPIM ने कहा- चुनाव कराएं, रैलियां रोकें

सीपीआईएम की ओर से कहा गया कि चुनाव को समय पर ​कराया जाए. कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए जनसभाओं मर रोक लगाई जाए. सीपीआईएम ने कहा कि सत्ताधारी पार्टी लाखों लोगों में रैलियां कर रही है और विरोधी को एक साथ बैठने की इजाज़त तक नहीं दी जा रही.

RLD ने रखी VVPAT के मिलान की बात

RLD प्रतिनिधिमंडल ने चुनाव आयोग से मुलाकात कर चुनाव पर अपनी पार्टी का पक्ष रखा. RLD के राष्ट्रीय सचिव अनिल दुबे ने कहा कि उन्होंने प्रत्याशी की मांग पर 50 प्रतिशत VVPAT का मिलान करने की अनुमति दिए जाने की बात कही है.

आपके शहर से (लखनऊ)

उत्तर प्रदेश

उत्तर प्रदेश

टैग: लखनऊ समाचार, यूपी विधानसभा चुनाव

.

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.