Ayodhya: राम मंदिर उद्घाटन से पहले ई-ऑटो और ई-बसें शुरू की गई

Ayodhya: उत्तर प्रदेश सरकार ने अयोध्या में 25 इलेक्ट्रिक ऑटो और 50 ई-बसें चलानी शुरू की हैं। मकसद है पर्यावरण के अनुकूल गाड़ियों को बढ़ावा देना। 22 जनवरी को राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा के बाद शहर में बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं के आने की संभावना है, उनकी सुविधा के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को हरित गाड़ियों को हरी झंडी दिखाई।

इलेक्ट्रिक ऑटो बनाने में हैदराबाद की ऑटो बनाने वाली कंपनी ने सहयोग किया है, 25 में से 12 ई-ऑटो महिलाएं चलाएंगी। ई-वाहनों के आने से अयोध्या आने वाले श्रद्धालु प्रदूषण मुक्त सार्वजनिक परिवहन की गाड़ियों में सफर करेंगे।

अयोध्या डेवलपमेंट अथॉरिटी का कहना है कि “पूरे राम पथ पर बस स्टॉप बनाया गया है, लगभग 22 जगहों पर और राम पथ पर बस स्टॉप बनाने का उद्देश्य लोग को बस पकड़ने के लिए इंतजार करते समय बैठने के लिए उचित जगह मिल सके। इसके साथ-साथ जो बस स्टॉप है उनकी भी ब्यूटीफिकेशन का जो कार्य है पीडब्ल्यूडी द्वारा किया जा रहा है। ताकि लोगों को प्रभु राम के जीवन चरित्र से संबंधित चीजें वहां देखने को मिले।”

एग्जेक्यूटिव डायरेक्टर ने बताया कि “हमें उत्तर प्रदेश के सात शहरों में 500 ऑटो देने का आदेश मिला है, इनमें अयोध्या भी शामिल है, वहां हमने अभी शुरुआत की है। आने वाले समय में हमें लखनऊ, वाराणसी, आगरा, गोरखपुर और प्रयागराज में ऑटो देने हैं। हमारी योजना छह महीने में 500 गाड़ियां लॉन्च करने की है।”

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *