Uttarakhand Politics : चुनाव से पहले चहेते अफसरों की सेटिंग! मंत्री जी का लिखा लेटर वायरल

[ad_1]

देहरादून. हरिद्वार ग्रामीण से विधायक और पुष्कर धामी सरकार में गन्ना एवं ग्राम्य विकास मंत्री यतीश्वरानंद की एक चिट्ठी वायरल हो रही है, जिसमें वह अपने एक चहेते अधिकारी की पोस्टिंग और प्रमोशन हरिद्वार में चाहते हैं. पहली बार उत्तराखंड सरकार में मंत्री बने यतीश्वरानंद ने इस अधिकारी को ज़िला आबकारी अधिकारी पद पर तैनात करने के लिए लेटर लिखा है. मुख्यमंत्री पुष्कर धामी के करीबी माने जाने वाले यतीश्वरानंद ने पिछले महीने 8 तारीख को अपने सरकारी लेटर पैड पर आबकारी सचिव को एक पत्र भेजा, जिसे लेकर अब खासा विवाद खड़ा हो गया है.

यतीश्वरानंद ने इस पत्र में उधमसिंह नगर ज़िले में तैनात सहायक आबकारी आयुक्त जनपदीय प्रवर्तन अशोक कुमार मिश्रा का हरिद्वार ट्रांसफर कर तत्काल ज़िला आबकारी अधिकारी बनाने की बात कही है. इस चिट्ठी को लेकर राजनीतिक विवाद बढ़ गया है और मामले की शिकायत चुनाव आयोग तक पहुंच गई है. सुराज सेवा दल के अध्यक्ष रमेश जोशी ने कड़ी आपत्ति जताते हुए कहा कि मंत्री यतीश्वरानंद चुनाव के मद्देनज़र अपने चहेते अधिकारी को हरिद्वार लाना चाहते हैं ताकि चुनाव में मनमानी करा सकें जबकि मंत्री का आबकारी विभाग से कोई लेना देना नहीं है.

Uttarakhand minister, yatishwaranand controversy, corruption in Uttarakhand, यतीश्वरानंद विवाद, उत्तराखंड के मंत्री, उत्तराखंड में भ्रष्टाचार, 2022 Uttarakhand Assembly Elections, Uttarakhand Assembly Election, उत्तराखंड विधानसभा चुनाव, उत्तराखंड चुनाव 2022, UK Polls, UK Polls 2022, UK Assembly Elections, UK Vidhan sabha chunav, Vidhan sabha Chunav 2022, UK Assembly Election News, UK Assembly Election Updates, aaj ki taza khabar, UK news, UK news live today, UK news india, UK news today hindi, उत्तराखंड ताजा समाचार

यतीश्वरानंद के लेटर हैड पर लिखा पत्र, जो वायरल हो रहा है.

चुनाव आयोग से ट्रांसफर रुकवाने की मांग
जोशी ने चुनाव के मद्देनज़र अपने चहेते अफसरों को सेट करने का आरोप सरकार पर लगाते हुए यतीश्वरानंद के इस्तीफे की मांग की. उन्होंने चुनाव आयोग में भी मंत्री की शिकायत की है. उन्होंने मांग की है कि इस ट्रांसफर प्रोसेस को रद्द करवाया जाए. हालांकि, अशोक कुमार मिश्रा का ट्रांसफर अभी हुआ नहीं है. मिश्रा अभी उधमसिंह नगर ज़िले में ही तैनात हैं. अब इस लेटर के मामले को कांग्रेस पार्टी भी चुनावी मुद्दा बना रही है.

आरोपों के घेरे में रहे हैं यतीश्वरानंद
कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष सूर्यकांत धस्माना का कहना है कि पूरे प्रदेश में खनन और शराब को लेकर सरकारी तंत्र में क्या खेल चल रहा है, ये इस लेटर से साफ हो जाता है. इस मामले में यतीश्वरानंद का पक्ष लेने के लिए उनसे संम्पर्क नहीं हो पाया. गौरतलब है कि यतीश्वरानंद पर ज़िले में अवैध माइनिंग के आरोप भी लगते रहे हैं. आम आदमी पार्टी ने उन पर प्रभाव का इस्तेमाल कर अवैध खनन के आरोप लगाकर प्रदर्शन भी किया था.

आपके शहर से (देहरादून)

उत्तराखंड

उत्तराखंड

टैग: उत्तराखंड सरकार, उत्तराखंड समाचार, उत्तराखंड की राजनीति

.

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.