पटवारी भर्ती परीक्षा पेपर लीक मामले में STF की बड़ी कार्रवाई, चार आरोपियों को किया गिरफ्तार

देहरादून। उत्तराखंड में तीन दिन पहले हुई पटवारी परीक्षा के दौरान पेपर लीक होने से हड़कंप मचा हुआ है। एसटीएफ ने प्रेस कॉन्फेंस कर मामले की पुष्टि की है। एसटीएफ ने बड़ी कार्यवाही करते हुए पटवारी भर्ती परीक्षा पेपर लीक मामले में आयोग के ही चार कर्मचारियों की संलिप्ता पाने पर गिरफ्तार किया है। वहीं आरोपियों के पास से 22 लाख रुपए भी बरामद किए गए हैं।

एसटीएफ पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए गए चार आरोपियों में लोक सेवा आयोग में गोपन सेक्शन में तैनात संजीव चतुर्वेदी के साथ ही उनकी पत्नी को भी हिरासत में लिया गया है। इनके अलावा आयोग में कार्यरत राजपाल, संजीव कुमार और रामकुमार को भी गिरफ्तार किया गया है। वहीं, इस मामले में लोक सेवा आयोग उत्तराखंड के सभी बड़े जिम्मेदारों ने चुप्पी साध रखी है।

बताया जा रहा है कि 35 लोगों को परीक्षा से पहले ही पेपर लीक किया गया था। अलग-अलग स्थानों के अभ्यर्थियों को बिहारी गढ़ में एक फार्म हाउस में एकत्रित कर पेपर लीक किया गया था।

बता दें कि उत्तराखंड लोक सेवा आयोग राज्य के 13 जिलों के परीक्षा केंद्रों में 8 जनवरी 2023 को यूकेपीएससी पटवारी/लेखपाल 2022 परीक्षा आयोजित की थी। इस परीक्षा में हजारों की संख्या में अभ्यर्थी शामिल हुए थे। परीक्षा के लिए एडमिट कार्ड आयोग द्वारा 29 दिसंबर 2022 को आयोग की आधिकारिक वेबसाइट – psc.uk.gov.in पर जारी किये गए थे। UKPSC ने 391 पटवारी पदों के लिए भर्तियां जारी की थी। जिसमें अल्मोड़ा, बागेश्वर, चमोली, चंपावत, देहरादून, नैनीताल, पौढ़ी गढ़वाल, पिथौरागढ़, रुद्रप्रयाग, टेहरी, उत्तरकाशी, हरिद्वार और उधम सिंह नगर जिले शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.