कैनाल रोड पर पहाड़ काटकर प्लाटिंग ध्वस्त,कई निलंबित

कैनाल रोड पर पहाड़ काटकर की जा रही अवैध प्लाटिंग के मामले में जिला खान अधिकारी और भूवैज्ञानिक समेत चार कर्मियों को डीएम ने निलंबित कर दिया। मामले में खनिज मोहर्रिर (भूतत्व एवं खनिकर्म इकाई) कुंदन सलाल की ओर से सहारनपुर निवासी आरोपी के खिलाफ डालनवाला कोतवाली में प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। वहीं, जिला प्रशासन और एमडीडीए की टीम ने अवैध प्लाटिंग को ध्वस्त कर दिया।

राजपुर रोड से सटे कैनाल रोड क्षेत्र में अवैध प्लाटिंग और भूमि कटान की शिकायत पर जिलाधिकारी सोनिका ने स्थलीय निरीक्षण किया। इसके बाद जिला प्रशासन और मसूरी-देहरादून विकास प्राधिकरण (एमडीडीए) की टीम ने अवैध प्लाटिंग को ध्वस्त कर निर्माण कार्यों को रुकवा दिया। प्रथमदृष्टया लापरवाही पाए जाने पर जिला खनन अधिकारी वीरेंद्र सिंह, भूगर्भ वैज्ञानिक अनिल कुमार और एमडीडीए के दो सुपरवाइजर प्यारे लाल व महावीर सिंह को निलंबित करने के निर्देश दिए। उन्हें तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया।

जिलाधिकारी ने बताया कि मामले की विस्तृत जांच के निर्देश दे दिए गए हैं। उन्होंने सभी एसडीएम और संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए कि जिले में किसी भी प्रकार की अवैध प्लाटिंग और अवैध खनन को बख्शा नहीं जाएगा। अपने-अपने क्षेत्रों में अवैध प्लाटिंग और अवैध खनन पर गंभीरता से निगरानी रखें। इस मौके पर एडीएम प्रशासन एसके बनरवाल, एमडीडीए से सहायक अभियंता अभिषेक भारद्वाज आदि उपस्थित थे। वही इस मामले में कई लोगो के नाम सामने आये है. इसमें एक नाम अनिल गुप्ता का है इस मामले में अनिल गुप्ता का कहना है कि मैंने ये ज़मीन 2020 में बेच दी थी अब इस जमीन में कौन क्या कर रहा है उससे मेरा क्या लेना देना मेरा नाम बेवजह इसमें घसीटा जा रहा है अनिल कुमार गुप्ता ने सीएम पुष्कर सिंह धामी क़ो पत्र भी लिखा जिसमे सीएम से मांग करते हुए कहा कि मुझे समाचारों जरिए पता चला है कि राजपुर क्षेत्र के अंतर्गत सम्पति जो कैनाल रोड पर स्थित है उसमें प्लॉटिंग का कार्य किया जा रहा है और पहाड़ खोदा गया है, यह बिलकुल गलत है,  आपके संज्ञान में लाना चाहता हूं कि उस सम्पति को मेरे द्वारा साल 2020 में किसी अन्य व्यक्ति कि कंपनी को बेचा जा चुका है और यह सम्पत्ति मेरे अधिकार में नहीं है, उस सम्पत्ति से मेरा कोई लेना देना नहीं है तथा अकारण ही मेरा नाम इसमें लिया जा रहा है, तथा इससे मेरी छवि भी धूमिल हो रही है। आपसे निवेदन है कि इस सम्बंधित प्रकरण से मेरा नाम हटाने की कृपा करें.

Leave a Reply

Your email address will not be published.