Joshimath crisis: प्रभावित परिवारों को मिलेंगी 1.5 लाख रुपए की सहायता, नहीं तोड़े जाएंगे घर

जोशीमठ भू धंसाव से प्रभावित 723 परिवारों को डेढ़ लाख मुआवजा दिए जाएगा। यह मुआवजा राशि अंतरिम सहायता के रूप मे प्रत्येक परिवार को दिया जाएगा। इसके अलावा दो होटल को ही धवस्त किया जाएगा। ऐसे में अब अन्य मकानों को नहीं ढहाया जाएगा।

दरअसल, कैबिनेट सचिव राजीव गौबा ने जोशीमठ भूधंसाव को लेकर बैठक की। जहां उन्होंने राष्ट्रीय संकट प्रबंधन समिति (एनएमसी) की अध्यक्षता करते हुए मुख्य सचिव डॉ.एसएस संधु से राहत एवं बचाव के लिए चल रहे कार्यों का ब्योरा लिया। उन्होंने प्रभावित जगहों से लोगों को जल्द से जल्द सुरक्षित स्थानों पर शिफ्ट करने के निर्देश दिए। बता दें, प्रशासन के साथ बैठक का दौर जारी है।

जोशीमठ आपदा को लेकर मुख्य सचिव ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि जिन 723 घरों में दरारें आई हैं, उनके रहवासियों को अभी डेढ़ लाख की मदद की जाएगी। 50 हजार शिफ्टिंग के लिए और मुआवजे के एडवांस के तौर पर एक लाख रुपए दिए जाएंगे। फाइनल मुआवजा क्या होगा, ये बाद तय किया जाएगा।

प्रभावित परिवारों से बुधवार को बातचीत के बाद मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के सचिव एम सुंदरम ने फैसलों की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि अभी कोई घर नहीं तोड़ा जाएगा, केवल 2 होटल तोड़े जाएंगे। घरों पर लाल निशान उन्हें खाली करने के लिए लगाए गए हैं। उन्होंने कहा कि होटल मालिकों से भी बातचीत हो गई है, वे प्रशासनिक कार्रवाई में सहयोग के लिए राजी हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.