जोशीमठ भू-धंसाव प्रभावित बच्चों को CBSE की बड़ी राहत, अब विस्थापित जगह पर ही दे सकेंगे एग्जाम

जोशीमठ भू-धंसाव की वजह से विस्थापित होने वाले लोगों को कई तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। वहीं प्रभावित परिवारों के बच्चों के लिए एक चुनौती आने वाले बोर्ड एग्जाम की भी है। ऐसे में बच्चों को सीबीएसई ने विशेष राहत दी है। सीबीएसई देहरादून ने छात्रों के लिए विस्थापित स्थान के केंद्र पर ही परीक्षा की विशेष व्यवस्था की है। जिससे 10वीं12वीं की बोर्ड परीक्षा देने में बच्चों को कोई परेशानी नहीं होगी।

दरअसलबोर्ड के संयुक्त सचिव एवं क्षेत्रीय अधिकारी रणबीर सिंह ने चमोली के डीएम व सभी स्कूलों को पत्र भेजकर बताया कि चमोली जिले में सीबीएसई 10वीं के 1142 छात्र और 12वीं के 743 छात्र 15 फरवरी से शुरू होने जा रही बोर्ड परीक्षा में बैठेंगे। इसके लिए जिले में 19 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैंजिनमें 13 अटल उत्कृष्ट विद्यालयचार केंद्रीय विद्यालयएक राजीव गांधी नवोदय विद्यालय और एक जवाहर नवोदय विद्यालय शामिल हैं। उन्होंने बताया कि जोशीमठ में भू-धंसाव से प्रशासन कई परिवारों को विस्थापित कर रहा है। ऐसे में इन छात्रों के लिए अपने पहले से तय परीक्षा केंद्र पर परीक्षा देना मुश्किल हो गया है।

ऐसे छात्रों के लिए सीबीएसई के क्षेत्रीय अधिकारी रणबीर सिंह ने विस्थापित स्थान के सबसे नजदीकी परीक्षा केंद्र पर परीक्षा की विशेष छूट दी है। उन्होंने इस बाबत दो दिन पहले सभी स्कूलों को पत्र भेजा हैजिसमें ऐसे छात्रों की लिस्ट मांगी गई है। सोमवार को उन्होंने चमोली के जिलाधिकारी को भी एक पत्र भेजा। इसमें कहा कि अगर प्रशासन को इस तरह की सूचना मिलती है तो वह सीबीएसई को अवगत कराएताकि किसी भी छात्र की बोर्ड परीक्षा न छूट पाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.