फोटो से रेटिना स्कैन, रबड़ के फेक फिंगरप्रिंट और विधायक की मुहर, आधार कार्ड बनाने का ऐसा फर्जी तरीका देख दंग रह जाओगे

[ad_1]

गाजियाबाद: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh Information) के गाजियाबाद (Ghaziabad) में फर्जी दस्तावेजों से आधार कार्ड (Aadhar Card) बनाने वाले एक ऐसा गिरोह का पर्दाफाश हुआ है, जिसकी तरकीबें जान किसी के भी होश उड़ जाएंगे. दरअसल, गाजियाबाद के लोनी बॉर्डर थाना पुलिस ने फर्जी दस्तावेज से आधार कार्ड बनाने वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ किया है. जिन लोगों के पास आधार कार्ड नहीं होते थे, उनको सरकारी योजनाओं का लाभ दिलाने के पैसे लेकर यह गैंग फर्जी आधार कार्ड बनाता था. पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार करते हुए आधार कार्ड बनाने का सामान बरामद किया है.

लोनी बॉर्डर पुलिस ने बताया कि यह गैंग दो हजार से तीन हजार लेकर फर्जी दस्तावेज से आधार कार्ड बनाता है. गैंग गाजियाबाद के लोनी बॉर्डर क्षेत्र में लोगों के लिए फर्जी दस्तावेज लगाकर आधार कार्ड बताना है. फर्जी दस्तावेज के जरिए आधार कार्ड बनाने के लिए गैंग आईआरआईएस डिवाइस, वेब कैमरा और नकली मुहरों का इस्तेमाल किया करते थे. पुलिस ने जिन तीन लोगों को गिरफ्तार किया है, उनके नाम आसिफ, खालिद और जावेद हैं.

यह गैंग इतना शातिर था कि लोगों के केवल फोटो से उनका रेटिना स्कैन कर लिया करता था. इसके लिए वह फोटो को एचडी क्वालिटी के फोटो में तब्दील कर दिया ककरता था और फिर उसी फोटो से रेटिना स्कैन करके फर्जी आधार कार्ड बना दिया करता था. इस गैंग ने फिंगर प्रिंट स्कैन करने के लिए फर्जी रबड़ के फर्जी फिंगरप्रिंट भी बनवा रखे था, जिसका उपयोग फिंगरप्रिंट स्कैनर के लिए किया करता था. गैंग ने दिल्ली के विधायक, कई स्कूलों के प्रिंसिपल, आरडब्लूए से जुड़े लोगों की नकली मोहर भी बनवा रखी थी, जिनसे यह फर्जी दस्तावेज से आधार कार्ड बनाने वाले लोगों का पता सत्यापित किया करते थे.

आपके शहर से (गाजियाबाद)

उत्तर प्रदेश

गाजियाबाद

उत्तर प्रदेश

गाजियाबाद

टैग: Aadhaar Card, गाजियाबाद समाचार, उत्तर प्रदेश समाचार

.

[ad_2]

Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published.