CWG 2022: नौवीं कक्षा में पढ़ने वाली अनाहत ने जीता पहला मैच

इंग्लैंड के बर्मिंघम में कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 का आगाज हो गया है। जिसमें भारत की ओर से पीवी सिंधु, बजरंग पूनिया, विनेश फोगाट, साक्षी मलिक और मीराबाई चानू जैसे कई बड़े खिलाड़ी शामिल हैं। लोगों की नजर इन एथलीट्स पर तो बनी ही हुई है, लेकिन एक 14 साल की एथलीट ने पहले दिन सबका ध्यान अपनी ओर खींचा है। यह कोई और नहीं बल्कि भारत की सबसे छोटी स्क्वैश खिलाड़ी अनाहत सिंह हैं। जिन्होंने इस छोटी सी उम्र में कॉमनवेल्थ गेम्स तक का सफर तय किया है।

अनाहत ने जीता पहला मैच

अनाहत कॉमनवेल्थ गेम्स में भारतीय टीम से खेलने वाली सबसे युवा खिलाड़ी हैं। अनाहत ने शुक्रवार को स्क्वॉश में अपना राउंड ऑफ 64 का मैच जीता है। यह सीनियर कैटेगरी में उनके करियर की पहली जीत है। ओपनिंग मैच में उन्होंने अपने से 6 साल बड़ी सेंट विंसेंट की जैडा रॉस को 11-5 11-2 11-0 से हराया। इस जीत के बाद अनाहत सोशल मीडिया सेंसेशन बन गईं।

बता दें कि अनाहत को अंडर-15 स्तर पर उनके प्रभावशाली प्रदर्शन के बाद भारतीय टीम में चुना गया था, जिसमें इस साल एशियाई जूनियर स्क्वॉश और जर्मन ओपन में जीत भी शामिल है।

9वीं की छात्रा है अनाहत

अनाहत का जन्म 13 मार्च 2008 को दिल्ली में हुआ था। अनाहत के पिता गुरशरण सिंह पेशे से वकील हैं। वहीं मां तानी सिंह इंटीरियर डिजाइनर हैं। अनाहत की बड़ी बहन अमीरा भी स्क्वैश प्लेयर हैं। वह अंडर-19 लेवल पर भारत की शीर्ष खिलाड़ियों में रह चुकी हैं। अमीरा स्नातक की डिग्री हासिल करने के बाद फिलहाल हार्वर्ड विश्वविद्यालय में पढ़ाई कर रही हैं। वह अभी हार्वर्ड महिला टीम के लिए स्क्वैश खेलती हैं। बता दें कि अनाहत दिल्ली में कक्षा 9वीं की छात्रा हैं।

बैडमिंटन में बनाना चाहती थी अपना करियर

9वीं क्लास की छात्रा अनाहत जब 6 साल की थीं तो अपनी बहन के साथ स्क्वॉश खेलने जाती थी। तब अनाहत को बैडमिंटन पसंद था। क्योंकि छह साल की उम्र में अनाहत ने दिल्ली में पीवी सिंधु को खेलते देखा। तब सिंधु इंडिया ओपन में हिस्सा ले रही थीं। इसके बाद अनाहत ने भी बैडमिंटन में भविष्य बनाने का सोचा। लेकिन बहन के साथ खेलते-खेलते अनाहत को कब स्क्वॉश से लगाव हो गया, इसका उन्हें पता ही नहीं चला और 2 साल बाद 8 साल की उम्र से अनाहत ने नियमित रूप से स्क्वैश खेलना शुरू कर दिया। तब से लेकर अब तक अनाहत स्क्वैश खेल रही हैं।

6 साल के करियर में जीत चुकी हैं 46 नेशनल मेडल

अनाहत ने 6 साल के करियर में 46 नेशनल सर्किट टूर्नामेंट, 2 नेशनल सर्किट खिताब, दो नेशनल चैंपियनशिप टाइटल जीते हैं। उन्होंने 8 अंतरराष्ट्रीय खिताब जीते हैं। इनमें ब्रिटिश जूनियर स्क्वॉश ओपन (2019) और यूएस जूनियर स्क्वॉश ओपन (2021) उनके मेजर टाइटल रहे हैं।

महिला एकल और युगल में लेंगी हिस्सा

कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में अनाहत महिला सिंगल्स के अलावा डबल्स में भी हिस्सा लेंगी। महिला डबल्स में अनाहत सुनयना कुरुविला के साथ जोड़ी बनाएंगी। कॉमनवेल्थ गेम्स के बाद अनाहत विश्व जूनियर्स चैंपियनशिप 2022 में भी नजर आएंगी। इसकी शुरुआत 9 अगस्त से होगी।  बता दें कि कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 का आयोजन 8 अगस्त तक हो रहा है। इस गेम्स आयोजन में लगभग 72 देशों के 5000 से ज्यादा एथलीट भाग लेने जा रहे हैं। वहीं भारत की ओर से 200 से ज्यादा खिलाड़ी भाग ले रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.