Punjab: बिहार की महिला का दावा कपूरथला बेअदबी मामले में मारा गया युवक था उसका भाई

[ad_1]

चंडीगढ़. पंजाब के कपूरथला (Kapurthala Punjab) के निजामपुर गुरुद्वारा में बेअदबी (sacrilege at Nizampur Gurdwara) की कोशिश में मारे गए युवक को लेकर बिहार के पटना जिले की एक महिला (girl from Bihar’s Patna district) ने दावा किया है कि मृतक उसका भाई है. इस महिला ने कपूरथला पुलिस से संपर्क किया है. महिला के मुताबिक इस युवक का नाम अंकित है. महिला ने कपूरथला पुलिस को कुछ दस्तावेज भी भेजे हैं. कपूरथला पुलिस ने News18 के संवाददाता से इस बात की पुष्टि की है और कहा है कि इसके दस्तावेज उनके पास मौजूद हैं.

हालांकि पुलिस ने पूरी तरह यह स्पष्ट नहीं किया है कि मृतक युवक उसी महिला का भाई है. पुलिस मृतक युवक की पहचान के लिए महिला के साथ अभी कुछ दस्तावेज शेयर कर रही है. महिला द्वारा पुलिस को भेजे गए फोटो कुछ कुछ युवक से मिल रहे हैं. जानकारी के मुताबिक महिला के कुछ रिश्तेदार शव की शिनाख्त के लिए पंजाब रवाना हो चुके हैं. उसके बाद ही सारी तस्वीर साफ हो पाएगी. यह भी कहा जा रहा है कि अपने भाई की तलाश में पहले महिला ने अमृतसर की कोतवाली में भी फोन किया था, लेकिन वहां से उसके भाई की शिनाख्त नहीं की गई थी. जिसके बाद महिला ने कपूरथला पुलिस से संपर्क किया.

क्या था मामला?
गौरतलब है कि कपूरथला जिले में स्थानीय लोगों ने बेअदबी मामले में युवक की पिटाई कर दी थी. जिसके बाद अधमरी हालत में पुलिस उसे अस्पताल ले गई थी. जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया था. पंजाब में अमृतसर में बेअदबी की घटना के बाद मॉब लिंचिंग की यह दूसरी घटना थी. निजामपुर गांव के निवासियों ने रविवार को तड़के एक गुरुद्वारे से उस युवक को यह आरोप लगाते हुए पकड़ लिया था कि उसने गुरुद्वारे में सुबह लगभग 4 बजे निशान साहिब (सिख ध्वज) का अपमान करते देखा गया था. गुरुद्वारा के कार्यवाहक अमरजीत सिंह ने फेसबुक पर लाइव स्ट्रीम किए गए एक वीडियो में कहा कि जब वह सुबह 4 बजे नितनेम (दैनिक प्रार्थना) के लिए निकले तो उन्होंने देखा कि युवक निशान साहिब का अपमान कर रहा था.

इससे पूर्व शनिवार को अमृतसर में स्वर्ण मंदिर (Amritsar’s Golden Temple) में शनिवार शाम बेअदबी का प्रयास करने वाले युवक की गुस्साई भीड़ ने पिटाई कर दी थी, जिसके बाद उसकी मौत हो गई थी. यह घटना उस समय हुई जब वह व्यक्ति पवित्र स्थल पर सुनहरी ग्रिल फांदकर कृपाण उठाने के बाद उस स्थान के पास पहुंच गया जहां सिख ग्रंथी पवित्र गुरु ग्रंथ साहिब का पाठ कर रहा था. शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (एसजीपीसी) कार्यबल के सदस्यों ने उस व्यक्ति को पकड़ लिया. जब उसे एसजीपीसी कार्यालय ले जाया जा रहा था तब गुस्साई भीड़ ने उसकी बुरी तरह पिटाई कर दी थी, जिसके बाद उसकी मौत हो गई थी. इस युवक की शिनाख्त करने में पुलिस फेल हो चुकी है.

टैग: पंजाब

.

[ad_2]

Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published.