Ludhiana Bomb Blast: बर्खास्त हेड कांस्टेबल से करवाया था बम ब्लास्ट, बब्बर खालसा से जुड़े थे तार

[ad_1]

चंडीगढ़. लुधियाना कोर्ट परिसर में हुए बम धमाके (Ludhiana Bomb Blast) के आरोपी की पुलिस ने शिनाख्त कर ली है. आरोपी ड्रग (drug case) केस में बर्खास्त हेड कांस्टेबल  गगनदीप सिंह (Gagandeep Singh) था, जो बम को एक्टिवेट करते हुए मारा जा चुका है. जानकारी के मुताबिक बम ब्लास्ट पाकिस्तान में बब्बर खालसा  के आतंकी रिंदा संधू (Babbar Khalsa terrorist Rinda Sandhu) ने करवाया था. आरोपी गगनदीप सिंह 2 साल से जेल में था और करीब चार माह पहले ही जमानत पर जेल से छूटा था. पुलिस को ब्लास्ट के स्थान पर इंटरनेट डोंगल मिला है. जिसे ट्रेस करने पर पता चला कि चार बम एक्टिवेट करने के लिए 13 इंटरनेट कॉल किए गए थे. जब गगनदीप बम एक्टिवेट कर रहा था तो यह ब्लास्ट हो गया, जिसमें गगनदीप के चिथड़े उड़ गए.

एक मीडिया रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से कहा गया है कि लुधियाना के 23 मोबाइल टावरों के डंप की डिटेल से खुलासा हुआ कि उनसे 3 इंटरनेशनल कॉल पाकिस्तान में बैठे  बब्बर खालसा के आतंकी रिंदा संधू को की गई थी. जांच एजेंसियों ने आशंका जताई है कि इस साजिश में शामिल लोग पंजाब के पड़ोसी राज्यों यूपी, दिल्ली व हिमाचल में छुपे हो सकते हैं.

ड्रग्स के साथ पकड़ा गया था गगनदीप
गौरतलब है कि गगनदीप 2019 में 385 ग्राम हेरोइन के साथ पकड़ा गया था, जिसके बाद मामला दर्ज कर उसे  बर्खास्त कर दिया गया था। गगनदीप की बम ब्लास्ट में आरोपी होने की आधिकारिक पुष्टि डीजीपी आज शनिवार को होने वाली प्रेस वार्ता में कर सकते हैं.

चल रही है जांच
उधर विस्फोटकों की प्रकृति का अभी भी पता लगाया जा रहा है क्योंकि विस्फोट के कारण शौचालय में पानी का पाइप फट गया, जिससे विस्फोटक बह गए. फोरेंसिक टीम अभी भी पता लगाने के लिए मौके पर काम कर रही है, इसमें कुछ समय लग सकता है, लेकिन जल्द ही किसी नतीजे पर पहुंचा जाएगा. सूत्रों ने कहा कि जांचकर्ताओं और फोरेंसिक टीमों को मौके से एक कंटेनर, एक क्षतिग्रस्त मोबाइल फोन, एक डेटोनेटर के अवशेष और छर्रे मिले हैं. ऐसा प्रतीत होता है कि विस्फोट उस समय हुआ जब IED को असेंबल किया जा रहा था.

टैग: लुधियाना, लुधियाना कोर्ट

.

[ad_2]

Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published.