कपूरथला गुरुद्वारा बेअदबी मामला: 36 घंटे बाद भी लिंचिंग का केस दर्ज नहीं

[ad_1]

चंडीगढ़. पंजाब (Punjab) के कपूरथला (Kapurthala Sacrilege) के निजामपुर गांव में स्थित गुरुद्वारे में हुई बेअदबी की घटना के बाद भीड़ द्वारा एक व्‍यक्ति (Lynching) को मार दिया गया. इस घटना के 36 घंटे बीतने के बाद भी अ‍ब तक लिंचिंग का कोई केस दर्ज नहीं किया गया है. बताया जा रहा है कि यह घटना पुलिस की मौजूदगी में हुई थी. इस दौरान कपूरथला के एसएसपी भी वहां मौजूद थे.

पुलिस ने सोमवार को इस लिंचिंग की घटना में मारे गए व्‍यक्ति की पहचान जानने पर ध्‍यान केंद्रित किया था. इसके लिए पुलिस की ओर से देश के सभी पुलिस थानों में मृतक की तस्‍वीर भेजी गई है. एसएसपी हरकमलप्रीत सिंह खाख ने द इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि रविवार को ग्रंथी अमरजीत सिंह की शिकायत पर धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने के तहत दर्ज की गई प्राथमिकी के तहत लिंचिंग मामले की जांच की जाएगी.

खाख ने कहा है कि पुलिस के लिए पहली प्राथमिकता पीड़ित का अंतिम संस्कार से पहले पोस्टमॉर्टम करने के लिए 72 घंटे के भीतर उसकी पहचान जानना है. अधिकारियों ने कहा कि एक पुलिस दल अन्य राज्यों में भी पुलिस टीमों से संपर्क कर रहा है. वे बाद में डीएनए परीक्षण करने के लिए आवश्यक नमूनों को सुरक्षित रखेंगे.

खाख ने कहा कि पटना की एक महिला ने अमृतसर के एसएचओ को यह दावा करते हुए फोन किया था कि अमृतसर में मारा गया व्यक्ति उसका भाई है, लेकिन बाद में उसने कहा कि कपूरथला में मारा गया व्यक्ति उसका भाई था. इस मामले में एसएसपी का कहना है कि लेकिन जब हमने उसके साथ पहचान के निशान साझा किए तो उसने कहा कि उसके भाई के शरीर पर ऐसे कोई निशान नहीं थे. उसने बताया कि उसका भाई बहुत गोरा था जबकि कपूरथला गुरुद्वारे में मारा गया आदमी थोड़ा सांवला था.

सिविल अस्पताल के वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारी डॉ संदीप धवन ने कहा कि मृतक के शरीर पर आठ से अधिक गहरे नुकीले घाव हैं, जो तलवारों के जरिये होने की संभावना है. अमृतसर में पुलिस ने सोमवार को श्री हरमंदर साहिब (स्वर्ण मंदिर) में बेअदबी और हत्या के प्रयास के लिए पकड़े गए आरोपियों की एक तस्वीर जारी की है.

टैग: पंजाब

.

[ad_2]

Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published.