पिथौरागढ़ की डीडीहाट सीट से चुनाव लड़ सकते है पूर्व सीएम हरीश रावत

पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत पिथौरागढ़ जिले की डीडीहाट विधानसभा सीट से चुनाव लड़ सकते हैं। पिथौरागढ़ में डीडीहाट के कांग्रेस नेताओं की हुई बैठक में इस बात को लेकर फैसला लिया गया। डीडीहाट विधानसभा सीट से सभी कांग्रेस दावेदारों ने पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत को डीडीहाट से लड़ाने का प्रस्ताव पास कर आलाकमान को भेजा है। कांग्रेस नेताओं का कहना है कि पिछले 25 साल से डीडीहाट सीट से कांग्रेस जीत नहीं हासिल कर सकी है। ऐसे में अगर पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत डीडीहाट सीट से चुनाव लड़ते हैं तो कांग्रेस के साथ ही डीडीहाट की जनता को भी फायदा होगा। कांग्रेस नेताओं  ने एक स्वर में हरीश रावत को डीडीहाट से चुनाव जीता कर विधानसभा भेजने का ऐलान किया।

वही डीडीहाट सीट से 2017 का विधानसभा चुनाव लड़ चुके कांग्रेस नेता प्रदीप पाल का कहना है कि वे पिछले 5 सालों से लगातार फील्ड में काम कर रहे हैं और उन्होंने कांग्रेस की जो जमीन तैयार की है उस पर अगर पूर्व मुख्यमंत्री चुनाव लड़ते हैं तो निश्चित तौर पर जीत उन्हें ही हासिल होगी। आपको बता दें कि डीडीहाट विधानसभा क्षेत्र से भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष और कैबिनेट मंत्री बिशन सिंह चुफाल पिछली पांच बार से लगातार जीतते आ रहे हैं। साथ ही सीट पर किशन भंडारी भी 2017 में निर्दलीय के तौर पर अपनी उपस्थिति दर्ज करा चुके हैं। सूत्रों की माने तो हरीश रावत ने खुद ही अपने नेताओं के जरिए डीडीहाट सीट से यह प्रस्ताव तैयार करवाया है ताकि पार्टी के भीतर उनके चुनाव लड़ने पर कोई भी गुटबाजी ना हो। क्योंकि हरीश रावत को लगता है कि अगर चुनाव के बाद विधायकों में से ही नेता चुनने की बात आती है तो कहीं इस दौड़ में पिछड़ न जाएं।  ऐसे में अगर हरीश रावत निर्दलीय को साधते हुए डीडीहाट विधानसभा क्षेत्र से ताल ठोकते हैं तो मुकाबला रोचक तो होगा ही , यह सीट सुबह की सबसे हॉट सीट भी बन जाएगी। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.