थराली सीट पर बगावत की आहट

बीजेपी ने विधानसभा चुनाव 2022 को लेकर थराली समेत 59 सीटों पर प्रत्याशियों की घोषणा कर दी है आरक्षित सीट थराली पर बीजेपी से भूपाल राम टम्टा प्रत्याशी बनाये गए हैं लेकिन उनके टिकट के बाद इस सीट पर बगावत की आहट भी साफ साफ सुनाई देने लगी है दरअसल भूपाल राम टम्टा की एंट्री भाजपा में सबसे बाद में हुई है और फिर सबको चोंकाते हुए भाजपा ने भूपाल राम को थराली का टिकट भी दे दिया जो सिंटिंग विधायक समेत बाकी अन्य 3 दावेदारों को अखर नहीं रहा है.  

देर शाम सिंटिंग विधायक की नाराजगी और निर्दलीय चुनाव लड़ने के साथ ही प्रदेश मंत्री बलवीर घुनियाल के इस्तीफे के बयान के बाद भाजपा युवा नेता नरेंद्र भारती ने भी खुलकर नाराजगी जाहिर की है वहीं थराली से बीजेपी के दो बार के पूर्व विधायक गोविंद लाल शाह भी नाराज बताए जा रहे हैं

भाजपा नेता नरेंद्र भारती ने टिकट वितरण को गलत बताते हुए कहा कि पार्टी ने पार्टी के पुराने कार्यकर्ताओं पर विश्वास न करते हुए बीजेपी में नए आये दावेदार भूपाल राम टम्टा को टिकट दे दिया उन्होंने कहा कि उन्होंने 2014 लोकसभा चुनाव ,2017 विधानसभा चुनाव उपचुनाव और 2019 लोकसभा चुनाव में पार्टी के लिए बूथ स्तर तक कार्य किया लेकिन फिर भी पार्टी ने उन्हें दरकिनार किया साथ ही उन्होंने कहा कि जहां वर्तमान में उत्तराखंड में पार्टी युवा नेतृत्व और युवा सरकार की बात कह रही है वहीं पार्टी ने थराली सीट पर दो दो युवाओं की दावेदारी के बाद भी युवाओं को तरजीह नहीं दी है उन्होंने कहा कि पार्टी सिंटिंग विधायक ,युवा नेता बलवीर घुनियाल और खुद उनके नाम पर कोई फैसला लेती तो वे इस फैसले को सहर्ष स्वीकार कर लेते लेकिन भाजपा में नए नए आये दावेदार को टिकट देने से पार्टी के निष्ठावान और पुराने कार्यकर्ताओ का मनोबल टूटा है उन्होंने कहा कि अपने समर्थकों से बातचीत करके वे जल्द ही चुनाव को लेकर अपना निर्णय लेंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published.