Cold Wave: उत्तर भारत के कुछ हिस्सों में कोहरे का असर हुआ कम

Cold Wave: देश के अधिकतर राज्यों में ठंड का दौर जारी है। इसी कड़ी में उत्तर भारत में गंगा के मैदानी इलाकों में सुबह-सुबह कोहरे की परत कुछ हिस्सों में बुधवार को कम देखी गई, मौसम विभाग के अनुसार बिहार, पूर्वी उत्तर प्रदेश, उत्तरी मध्य प्रदेश और दिल्ली में कोहरे में कमी आई है। हालांकि, पंजाब, हरियाणा, पश्चिमी उत्तर प्रदेश और राजस्थान के कुछ हिस्सों में घना कोहरा छाया हुआ है।

भारतीय रेलवे के प्रवक्ता ने कहा कि कोहरे के कारण दिल्ली आने वाली 20 ट्रेनें पांच घंटे तक की देरी से पहुंचीं। सुबह 5:30 बजे, पटियाला, अंबाला और बरेली में विजिबिलिटी का स्तर 25 मीटर, हिसार, चुरू और बहराईच में 50 मीटर और लखनऊ और पूर्णिया में 200 मीटर था, पालम वेधशाला के पास दिल्ली में इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय (आईजीआई) हवाई अड्डे पर विजिबिलिटी केवल 200 मीटर तक थी।

उत्तर और पूर्वोत्तर भारत में सुबह-सुबह कोहरे के मौसम ने पिछले एक पखवाड़े में सड़क, रेल और हवाई यातायात को काफी प्रभावित किया है, सोमवार को दिल्ली हवाईअड्डे पर पांच उड़ानों को डायवर्ट किया गया और 100 से अधिक उड़ानों में देरी हुई। नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने सोमवार को कहा कि सभी संबंधित एजेंसी कोहरे से जुड़ी परेशानी को कम करने के लिए चौबीसों घंटे काम कर रही हैं।

दिल्ली हवाई अड्डे को मौजूदा कैटेगरी-III- इनेबल रनवे के अलावा कैटेगरी-III- इनेबल चौथे रनवे के ऑपरेशन में तेजी लाने के लिए कहा गया गया था। आम तौर पर कैटेगरी-III कम विजिबिलिटी की स्थितियों में उड़ान संचालन के लिए होता है। मंगलवार रात को कई स्थानों पर घने कोहरे के कारण विजिबिलिटी कम होने के कारण आईएमडी (भारत मौसम विज्ञान विभाग) ने लोगों को अनावश्यक यात्रा से बचने और वाहन चलाते समय सावधानी बरतने की सलाह दी है।

आईएमडी ने कहा कि अगले पांच दिनों तक उत्तर भारत में घने से बहुत घने कोहरे की स्थिति बनी रहने की संभावना है, इसमें कहा गया है कि अगले दो दिनों तक उत्तरी मैदानी इलाकों में कोल्ड-डे से लेकर सीवियर-कोल्ड-डे की स्थिति बनी रहेगी। पश्चिमोत्तर भारत में पांच दिनों तक शीत लहर से लेकर गंभीर शीत लहर की स्थिति जारी रहने की संभावना है।

मैदानी इलाकों में यदि न्यूनतम तापमान चार डिग्री सेल्सियस तक गिर जाता है या जब न्यूनतम तापमान 10 डिग्री या उससे नीचे होता है और सामान्य से साढ़े चार डिग्री कम होता है, तो मौसम विभाग शीत लहर की घोषणा करता है। भीषण शीत लहर तब होती है जब न्यूनतम तापमान दो डिग्री सेल्सियस तक गिर जाता है या सामान्य से 6.4 डिग्री से अधिक कम हो जाता है।

ठंडा दिन वो होता है जब न्यूनतम तापमान सामान्य से 10 डिग्री सेल्सियस कम या उसके बराबर होता है और अधिकतम तापमान सामान्य से कम से कम 4.5 डिग्री कम होता है। गंभीर ठंडा दिन वो होता है जब अधिकतम तापमान सामान्य से 6.5 डिग्री सेल्सियस या उससे अधिक नीचे होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *