VIDEO: कांग्रेस MLA ने भरे मंच पर छुए ज्योतिरादित्य सिंधिया के पैर, चर्चाओं का बाजार गर्म

[ad_1]

ग्वालियर. ग्वालियर में कांग्रेस विधायक सतीश सिकरवार ने भरे मंच पर केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के पैर छुए. मौका था, दीनदयाल नगर अस्पताल के शुभारंभ का. केंद्रीय मंत्री सिंधिया ने रविवार दोपहर इसका उद्घाटन किया. इसी कार्यक्रम में कांग्रेस विधायक सतीश सिकरवार को भी बुलाया गया था. पैर छूने का ये वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया. इसके बाद राजनीतिक गलियारों में चर्चओं का बाजार गर्म हो गया. दूसरी ओर, विधायक को रविवार रात अखिल भारतीय तानसेन समारोह में भी अतिथि के रूप में बुलाया गया था. लेकिन जब वे मंच पर पहुंचे तो उनके लिए कुर्सी नहीं थी. इस पर वे मंच छोड़कर चले गए. ये देख सांसद और अधिकारियों ने उनको मनाया और मंच पर अतिथियों के साथ कुर्सी लगाकर बैठाया.

गौरतलब है कि रविवार दोपहर दीनदयाल नगर में 30 बिस्तर के सरकारी अस्पताल का शुभारंभ था. नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने इसका लोकार्पण किया. प्रोटोकॉल के तहत कार्यक्रम में स्थानीय कांग्रेस विधायक सतीश सिकरवार को भी बुलाया गया. कांग्रेस विधायक सतीश जब मंच पर पहुंचे तो सामने खड़े  ज्योतिरादित्य सिंधिया के पैर छुए, साथ ही सतीश ने मंच पर मौजूद पूर्व मंत्री मायासिंह के भी पैर छुए. सिंधिया के पैर पड़ने पर विधायक सिकरवार ने कहा कि वो उम्र और पद में बड़े हैं इसलिए पैर छूकर उनका सम्मान किया.

कांग्रेस विधायक को मंच पर नहीं मिली कुर्सी

रविवार रात 97वें अखिल भारतीय तानसेन समारोह का शुभारंभ हुआ. इसका उद्घाटन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने किया. मंच पर केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया, नरेंद्र सिंह तोमर, ऊर्जा मंत्री प्रधुम्न, राज्यमंत्री भारत सिंह कुशवाहा मौजूद थे. कार्यक्रम मे कांग्रेस विधायक विधायक सतीश सिकरवार को भी अतिथि के रूप में आमंत्रित किया गया था, लेकिन जब कांग्रेस विधायक मंच पर पहुंचे तो उनके लिए कुर्सी नहीं थी. अधिकारियों उन्हें बताया कि मंच पर इतने अतिथियों की ही कुर्सियां लगी हैं. सतीश को पीछे वाली पंक्ति में बैठने को कहा, लेकिन कांग्रेस विधायक सतीश सिकरवार मंच छोड़कर चले गए. ये देख सांसद और अधिकारियों ने उनको मनाया और मंच पर अतिथियों के साथ कुर्सी लगाकर बैठाया. इस पर सतीश का कहना था कि अथिति के रूप में बुलाकर मंच पर कुर्सी न देने से उनका अपमान हुआ था, लेकिन संसद जी ने उनको मनाया तो वो कार्यक्रम में लौट आए.

क्या BJP में जाने के लिए जमीन तैयार कर रहे सतीश

आपको बता दें कि सतीश सिकरवार साल 2018 के विधानसभा चुनाव के समय बीजेपी में थे. ग्वालियर पूर्व सीट से BJP के टिकट पर विधानसभा चुनाव लड़े थे. उस चुनाव में तत्कालीन कांग्रेस नेता मुन्ना लाल गोयल ने सतीश को चुनाव हराया था. साल 2020 में कांग्रेस विधायक मुन्ना लाल गोयल सिंधिया के साथ BJP में शामिल हो गए, तो वहीं सतीश सिकरवार ने BJP छोड़ कांग्रेस का दामन थाम लिया था. 2020 के उप चुनाव में सतीश ने कांग्रेस के टिकट पर विधानसभा चुनाव लड़ा जिसमें BJP के मुन्ना लाल गोयल को हराया था. सतीश कांग्रेस में विधायक बनने के बाद भी सिंधिया की तारीफ खुले मंच पर करते रहे हैं. पिछले तीन महीने में सतीश ने 2 बार मंच पर सिंधिया के पैर छुए हैं और उन्हें विकास पुरुष तक बताया है. सतीश की सिंधिया के प्रति सम्मान भावना को लेकर राजनीति हल्के में चर्चा है कि सतीश दोबारा BJP में जाने की जमीन तैयार कर रहे हैं. इसमे सिंधिया बड़ा सहारा बन सकते हैं. लिहाज़ा सतीश अब सिंधिया से नजदीकियां हासिल करने की कोशिश कर रहे हैं.

आपके शहर से (ग्वालियर)

मध्य प्रदेश

मध्य प्रदेश

टैग: ग्वालियर समाचार, Jyotiraditya Scindia, एमपी न्यूज

.

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.