अंबाला: कैथोलिक चर्च सहित सभी गिरजाघरों की बढ़ाई गई सुरक्षा, तोड़ी गई थी यीशु की मूर्ति

[ad_1]

अंबाला. अंबाला (Ambala) में होली रिडीमर कैथोलिक चर्च (Holy Redeemer Catholic Church) पर हमले के बाद शहर के तमाम गिरजाघरों की सुरक्षा बढ़ा दी गई है. वहीं, अपराधियों को पकड़ने के लिए पुलिस इलाके में लगे भी सीसीटीवी कैमरों (CCTV Cameras) का फुटेज चेक कर लही है. सीन ऑफ क्राइम की फॉरेंसिक एक्सपर्ट और फिंगर प्रिंट एक्सपर्ट की टीम भी मौके पर पहुंच कर मामले की जांच कर रही है. लेकिन अभी तक केथोलिक चर्च की मूर्ति तोड़ने वाले आपराधिक तत्व पुलिस के हाथ नहीं लगे हैं.

दरअसल, 25 दिसंबर को होली रिडीमर कैथोलिक चर्च के बाहर लगी यीशु की मूर्ति को तोड़कर  आपराधिक तत्व फरार हो गए थे. इससे समुदाय विशेष में दहशत फैल गई थी. जिसके बाद समाज के लोगों ने पुलिस को सभी चर्च की सुरक्षा बढ़ाने की मांग की थी. ऐसे में अंबाला पुलिस के तमाम आला अधिकारी मौके पर पहुंचे थे और मौका मुआयना करने के बाद उन्होंने एसएचओ अंबाला कैंट थाना सदर को सभी चर्च की सुरक्षा बढ़ाने के आदेश दिए थे. अंबाला पुलिस ने चर्च के फादर पतरस मुंडू की शिकायत पर अज्ञात के खिलाफ बिना अनुमति चर्च में घुसने और बाहर लगी यीशु की मूर्ति को खंडित करके धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने का मामला दर्ज किया था.

मामले की जांच में जुट गई है
मौके पर मौजूद अंबाला कैंट सदर थाना के एसएचओ नरेश शर्मा ने बताया कि सीसीटीवी फुटेज को अच्छी तरह से खंगाला जा रहा है. सीन ऑफ क्राइम की फॉरेंसिक एक्सपर्ट और फिंगर प्रिंट एक्सपर्ट टीम भी मौके पर पहुंची है और जांच जारी है. नरेश कुमार की मानें तो पुलिस की कई जांच टीमें गहराई से इस मामले की जांचने में जुट गई है.

1890 में आग लगने से नुकसान हुआ था
फिलहाल, पुलिस ने फादर पतरस मुंडू सहित समाज के लोगों की मांग पर सभी चर्च के बाहर सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी है. जिसके तहत वहां पुलिस के जवानों की तैनाती कर दी गई है .और चप्पे- चप्पे पर पुलिस पैनी नजर रखे हुए हैं. बता दें कि यह होली रिडीमर कैथोलिक चर्च का निमाण 1948 में दिल्ली से आये इटेलियन केपुचिन की देखरेख में किया गया था.

आपके शहर से (अंबाला)

टैग: अंबाला समाचार, हरियाणा समाचार, हरियाणा पुलिस

.

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.