New 12 months 2022: वाल्मीकि टाइगर रिजर्व आने वाले पर्यटकों को कोराना गाइडलाइन का सख्ती से करना होगा पालन, होंगी कई पाबंदियां

[ad_1]

(मुन्ना राज)

बगहा. कोरोना वायरस के नए वेरिएंट ओमिक्रोन (Omicron) के प्रसार की आशंका को देखते हुए बिहार सरकार (Bihar Authorities) ने 31 दिसंबर से दो जनवरी तक राज्य के सभी पार्क और उद्यान को पूर्णतः बंद रखने का निर्णय लिया है. लेकिन पश्चिम चंपारण (West Champaran) जिले स्थित वाल्मीकि टाइगर रिजर्व प्रशासन गाइडलाइन (Corona Guideline) का सख्ती से पालन करते हुए यहां आने वाले पर्यटकों को शर्तों के साथ वाल्मीकि टाइगर रिजर्व (Valmiki Tiger Reserve) के भ्रमण की छूट देगा. वैसे पर्यटकों को निराश होने की जरुरत नहीं है जिन्होंने नये साल के जश्न के लिए काफी पहले से यहां बुकिंग करा रखी है.

वन संरक्षक हेमकांत राय ने बताया कि नव वर्ष के अवसर पर वाल्मीकिनगर में जितने भी होटल या रहने के जगह हैं उसकी ऑनलाइन बुकिंग हो गयी है. पर्यटकों ने दो माह पहले ही वाल्मिकीनगर घूमने का प्रोग्राम बना लिया था जिसे देखते हुए नव वर्ष के लिए पूरी तैयारी कर ली गई है.

यहां आने वाले पर्यटकों को वाल्मीकिनगर घूमने में कोई असुविधा नहीं होगी. पर्यटकों के लिए सिर्फ इको पार्क बंद रहेगा. वहीं, पर्यटक जंगल सफारी का भी आनंद ले सकेंगे. इसके लिए उन्हें करोना गाइडलाइन का पालन करना होगा. साथ ही सैलानियों को मास्क का हर समय उपयोग करना होगा. जंगल सफारी के दौरान जहां पहले छह लोग जाते थे लेकिन, अब उसकी जगह पर केवल चार लोग ही जंगल सफारी का आनंद लेंगे. सफारी में उपयोग में आने वाली गाड़ियों पर सैनिटाइजर का प्रयोग किया जाएगा. इसके साथ ही सभी रेस्टोरेंट और अतिथि गृह में भी करोना गाइडलाइन का पालन किया जाएगा. वन संरक्षक ने कहा कि सैलानियों को निराश होने की या बुकिंग कैंसिल कराने की जरूरत नहीं है. बल्कि पर्यटन और वन विभाग की तरफ से उन्हें हर सहूलियत मुहैया कराई जाएगी.

बाघ

जंगल में विचरते बाघों और अन्य वन्य जीवों की बड़ी संख्या होने के चलते वाल्मीकि टाइगर रिजर्व पर्यटकों के बीच काफी पोपुलर है

जंगल के अंदर पिकनिक मनाने की रहेगी मनाही

उन्होंने बताया कि जंगल के अंदर पिकनिक मनाने को लेकर पूरी तरह से मनाही रहेगी. हालांकि घूमने-फिरने के लिए कोई मनाही नहीं है. लेकिन झुंड बना कर पर्यटक जंगल के अंदर नहीं घूम सकेंगे. इसे लेकर तैयारी की जा रही है. जंगल के अंदर आग जला कर कोई खाना नहीं बना सके इसको लेकर जगहों को चिन्हित कर वहां गार्ड तैनात किये जाएंगे.

नव वर्ष के अवसर पर मंदिरों में करेंगे लोग दर्शन

वाल्मीकि टाइगर रिजर्व में आने वाले पर्यटक सबसे पहले सीता की समाधि यानी वाल्मीकि आश्रम तक पहुंचते हैं. उसके बाद कौलेश्वर, जटाशंकर और नर देवी के दर्शन करते हैं. इसके बाद ही पर्यटक खाने-पीने के व्यवस्था में जुटते हैं. पर्यटकों के लिए सभी स्थान खुले रखे जाएंगे ताकि जिस किसी ने भी अपना बुकिंग पहले से करा कर रखा है उसे वाल्मिकी टाइगर रिजर्व घूमने का पूरा आनंद मिले.

आपके शहर से (पश्चिमी चंपारण)

पश्चिमी चंपारण

पश्चिमी चंपारण

टैग: बिहार के समाचार हिंदी में, कोरोना दिशानिर्देश, नववर्ष की शुभकामनाएं, नए साल का उत्सव, वाल्मीकि टाइगर रिजर्व

.

[ad_2]

Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published.