Bihar Politics 2022: क्या आरसीपी-जीएन सिंह फिर जाएंगे राज्य सभा,मीसा भारती को रीपीट करेगी RJD?

[ad_1]

पटना. बिहार में भले ही 2022 में कोई आम चुनाव नहीं है, लेकिन राज्य सभा की खाली हो रही पांच सीट बिहार की सियासत को प्रभावित कर सकती है. दरअसल ये साल तय करेगा कि JDU कोटा से केंद्र में मंत्री बने आरसीपी सिंह नरेंद्र मोदी मंत्रिमंडल में मंत्री बने रहेंगे या नहीं. 2022 ये भी तय करेगा कि लालू यादव की बड़ी बेटी मीसा भारती राज्य सभा में फिर से दिखेंगी या नहीं. लंबे समय से राज्य सभा की आस में बैठे केसी त्यागी का वनवास खत्म होगा कि नहीं. भाजपा के केंद्रीय नेताओं के नजदीकी माने जाने वाले राज्य सभा सांसद गोपाल नारायण सिंह दोबारा राज्य सभा पहुंच पाएंगे या फिर जीतन राम मांझी के ब्राह्मण के खिलाफ दिए बयान के बाद ब्राह्मण समाज की नाराजगी की खबर के बीच भाजपा के राज्य सभा सांसद सतीश चंद्र दुबे को हटा भाजपा किसी दूसरे को राज्यसभा में भेजने का जोखिम उठाएगी? इन तमाम सवालों के जवाब बिहार के राजनीतिक दलों के लिए खोजना आसान नहीं होने वाला है.

दरअसल 2022 में बिहार में राज्य सभा की पांच सीट खाली होने वाली है जिसके चुनाव को लेकर बिहार में राजनीतिक हलचल तेज होने लगी है. जदयू (JDU), भाजपा (BJP) और राजद (RJD) के लिए खाली हो रही सीटों पर उम्मीदवार तय करना है. इन दलों को ये तय करना है कि जो उम्मीदवार हैं उन्हें ही दोबारा भेजा जाए या नए चेहरे पर दांव लगाने का जोखिम उठाया जाए.

जनता दल यूनाइटेड— JDU से फिलहाल केंद्र में आरसी पी सिंह फिलहाल मंत्री हैं. इनका कार्यकाल जुलाई में खत्म हो रहा है. इस वक्त जो JDU के अंदर की राजनीति चल रही है उसमें आरसीपी सिंह और JDU के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह की अंदरुनी लड़ाई JDU में किसी से छिपी हुई नहीं है. जब से आरसीपी सिंह केंद्र में मंत्री बने हैं तब से ही विशेष राज्य के दर्जे के मुद्दे पर भी आरसीपी सिंह का स्टैंड JDU को परेशान करता रहा है. लेकिन, JDU के लिए आरसीपी सिंह को लेकर कोई बड़ा फैसला करना आसान नहीं होगा, क्योंकि वे केंद्र में मंत्री भी हैं.

वहीं, किंग महेंद्र के निधन के बाद खाली हुई सीट पर JDU के कई नेताओं की नजर है. लेकिन सबसे मजबूत दावेदारी केसी त्यागी की बताई जा रही है. वे लंबे समय से राज्यसभा सीट पर नजर गड़ाए हुए हैं और केंद्र की सियासत में JDU की बातों को मजबूती से उठाते रहे हैं. सूत्रों से यह खबर भी है कि इनको लेकर JDU दांव खेल सकता है.

राष्ट्रीय जनता दल— राजद की ओर से लालू यादव की बड़ी बेटी और फिलहाल राज्य सभा सांसद मीसा भारती हैं और उनका कार्यकाल भी जुलाई में खत्म हो रहा है. ये तय माना जा रहा है कि इस वक्त राजद की पूरी कमान थामने वाले तेजस्वी यादव मीसा भारती को ही दोबारा राज्य सभा भेज दें. इसकी वजह भी ये बताई जा रही है की लालू यादव अपने परिवार को एकजुट रखने की कोशिश कर रहे हैं. ऐसे में लालू परिवार कोई जोखिम नहीं लेना चाहता है. दूसरी ओर राजनीति के जानकार यह भी कहते हैं कि राजद से ऐसा कोई मजबूत दावेदार भी नहीं दिख रहा है जो मीसा भारती को राज्यसभा की रेस में पछाड़ सके.

भारतीय जनता पार्टी— भाजपा की तरफ से भी दो सीट खाली हो रह है. ये है सतीश चंद्र दुबे और गोपाल नारायण सिंह की सीट. ये दोनों भी अपने अपने समीकरण का हवाला देकर दोबारा राज्यसभा जाने की कोशिश करेंगे, लेकिन ये भाजपा आलाकमान को तय करना है की वो दोबारा इन पर दांव लगाती है या फिर लोकसभा चुनाव को देखते हुए किसी नए समीकरण पर दांव लगाती है.

आपके शहर से (पटना)

टैग: बिहार की राजनीति, BJP, मैं जाता हूं, RJD

.

[ad_2]

Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published.