पटना: काली कमाई का कुबेर निकला इंजीनियर, 2 ठिकानों पर छापे में मिले लाखों रुपये और स्वर्ण आभूषण

[ad_1]

पटना. निगरानी अन्वेषण ब्यूरो की टीम ने मंगलवार को बिहार की राजधानी पटना (Patna) में जिस भ्रष्ट कार्यपालक अभियंता (एक्जिक्यूटिव इंजीनियर) राजेश कुमार को आठ लाख रुपये घूस (Bribe) लेते गिरफ्तार किया है, जांच में वो काली कमाई का कुबेर (Corruption) निकला है. गिरफ्तारी के बाद निगरानी की टीम (Vigilance Team) ने उसके कंकड़बाग स्थित नूतन टावर के दो फ्लैटों की सघन तलाशी (Raid) की जिसमें अकूत संपत्ति का खुलासा हुआ. निगरानी ब्यूरो की टीम ने हाईकोर्ट भवन प्रमंडल के कार्यपालक अभियंता राजेश कुमार को आठ लाख रुपये रिश्वत लेते गिरफ्तार किया इसके बाद उनके ठिकानों पर तलाशी ली गई.

तलाशी के दौरान टीम को तीन लाख रुपये कैश मिले हैं. साथ ही दो किलो 380 ग्राम स्वर्ण आभूषण जब्त किया गया है. इसमें सोने के 10 बिस्कुट और 13 सोने के सिक्के शामिल हैं. बरामद सोने की कीमत एक करोड़ 30 लाख रुपये आंकी गई है. इसके अलावा जमीन के पांच कागजात जब्त किये गए हैं जिसमें दिल्ली से सटे गुरुग्राम में पांच मंजिला भवन होने का सबूत मिला है. साथ ही एनसीआर के शहर नोएडा में दो व्यवसायिक दुकानों के कागजात मिले हैं. निगरानी टीम को सोलह बैंक खातों की भी जानकारी मिली है जिसमें 27 लाख रुपये जमा हैं. इसके अलावा, म्यूचुअल फंड में साढ़े तीन लाख रुपये निवेश किए गए हैं जिसके कागजात भी इस टीम को मिला है.

उत्तर प्रदेश में इंजीनियरिंग इन्फोटेक प्राइवेट लिमिटेड कंपनी में निवेश किए जाने के प्रमाण निगरानी की टीम को मिले हैं. तलाशी के क्रम में एक्सिस बैंक में एक लॉकर की भी जानकारी निगरानी की टीम को मिली है. अधिकारियों की मानें तो इस लॉकर को बाद में खोला जाएगा. अभियंता की गिरफ्तारी के बाद अब उसे कोर्ट में पेश किया जाएगा. निगरानी विभाग की लगातार कार्रवाई से भ्रष्ट और धन कुबेर बने अफसरों में हड़कंप मचा हुआ है.

आपके शहर से (पटना)

टैग: बिहार के समाचार हिंदी में, भ्रष्टाचार का मामला, अपराध समाचार, पटना समाचार, छापेमारी सतर्कता

.

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.