UKSSSC Paper Leak मामले में तुषार चौहान चढ़ा STF के हत्थे, अब तक 14 गिरफ्तारियां

देहरादून: UKSSSC पेपर लीक मामले में एसटीएफ की ताबड़तोड़ कार्रवाई जारी है. इसी कड़ी में एसटीएफ ने एक और अभियुक्त को गिरफ्तार कर जेल भेजा है. एसटीएफ ने सबूतों के आधार पर जसपुर निवासी तुषार चौहान को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया. जहां से उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है. UKSSSC पेपर लीक मामले अब तक 14 लोगों की गिरफ्तारियां हो चुकी हैं.

पेपर लीक के अधिकांश तार कुमाऊं के जनपदों से जुड़े: UKSSSC पेपर लीक मामले के तार लगातार कुमाऊं क्षेत्र से जुड़ रहे हैं. दो न्यायिक कर्मियों की गिरफ्तारी के बाद जिस तरह के सबूत मिले हैं, उसके आधार पर कुमाऊं के सितारगंज, जसपुर, रामनगर नैनीताल से गिरफ्तारियों का सिलसिला जारी है.

आज आयोग के तत्कालीन एग्जाम कंट्रोलर नारायण सिंह से भी एक बार फिर एसटीएफ परीक्षा प्रक्रिया से संबंधित मामलों में गहनता से पूछताछ करेगी. एसटीएफ को इस बात का अंदेशा है कि पेपर आयोजित करने की पूरी प्रक्रिया में या तो घोर लापरवाही हुई है या फिर यह एक सोची समझी साजिश है. ऐसे में एसटीएफ रिटायर्ड एग्जामनर नारायण सिंह से पूछताछ कर अहम जानकारी जुटाने का प्रयास करेगी.

उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग के स्नातक स्तर के पेपर लीक मामले में आयोग की बड़ी लापरवाही सामने आ रही है. पेपर प्रिंटिंग और पैकिंग के दौरान की सीसीटीवी फुटेज आयोग के पास नहीं हैं. यह जानकारी परीक्षा नियंत्रक नारायण सिंह डांगी से एसटीएफ को पूछताछ में मिली है. वहीं प्रिंटिंग प्रेस की ओर से फुटेज आयोग को देने की बात कही जा रही है. ऐसे में एसटीएफ जल्द ही आयोग के अन्य अधिकारियों व कर्मचारियों को पूछताछ के लिए बुला सकती है.

पंचायत सदस्यों के नाम भी आए सामने: UKSSSC पेपर लीक मामले में कुछ पंचायत सदस्यों के नाम भी संदेह के घेरे में हैं. बताया जा रहा है कि संदिग्धों में से कुछ और देश के बाहर भी चले गए हैं. हालांकि, इस मामले में एसटीएफ ने साफ किया है कि जब तक किसी के खिलाफ कोई सबूत नहीं मिलता है, उसके बारे में कुछ नहीं कहा जा सकता है. जानकारी के अनुसार, पेपर लीक केस में एक जिला पंचायत सदस्य के खिलाफ 2020 में में मुकदमा दर्ज हुआ था.

Leave a Reply

Your email address will not be published.