रुद्रप्रयाग विधानसभा सीट से कांग्रेस के भीतर बगावत, टिकट बदलने की मांग

कांग्रेस पार्टी में बगावत के स्वर फूट गये हैं कांग्रेस से प्रदीप थपलियाल को टिकट मिलने के बाद कांग्रेस के अन्य विधायक दावेदारों में आक्रोश है इस दौरान कांग्रेस से विधायक के उम्मीदवारों ने निर्णय लिया कि कांग्रेस का टिकट बदलकर पूर्व मंत्री मातबर सिंह कंडारी को दिया जाये यदि पूर्व मंत्री मातबर सिंह कंडारी को टिकट नहीं दिया जाता है तो पार्टी से बगावत करके उन्हे निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में चुनाव लड़ाया जायेगा दरअसल रुद्रप्रयाग विधानसभा से कांग्रेस ने प्रदीप थपलियाल को टिकट दिया है प्रदीप थपलियाल ने 2017 के विधानसभा चुनाव में टिकट न मिलने पर पार्टी प्रत्याशी लक्ष्मी राणा के खिलाफ चुनाव लड़ा था इस बार पूर्व मंत्री मातबर सिंह कंडारी, पूर्व प्रत्याशी लक्ष्मी राणा, वीरेन्द्र बुटोला, अंकुर रौथाण, नरेन्द्र सिंह बिष्ट, ठाकुर गजेन्द्र सिंह पंवार सहित अन्य लोगों ने अपनी दावेदारी की थी लेकिन पार्टी ने प्रदीप थपलियाल पर भरोसा जताया पार्टी के अन्य नेता प्रदीप थपलियाल को टिकट मिलने से नाराज हैं सभी दावेदारों ने पार्टी के कार्यकर्ताओं के साथ मिलकर बैठक की बैठक में कहा गया कि 2017 के विधानसभा चुनाव में प्रदीप थपलियाल ने पार्टी प्रत्याशी लक्ष्मी राणा के खिलाफ बगावत की थी उस समय प्रदीप थपलियाल पार्टी के जिलाध्यक्ष थे उन्हे पार्टी प्रत्याशी का साथ देना चाहिये था लेकिन उन्होंने साथ देने के बजाय बगावत की जिससे कांग्रेस को हार का सामना करना पड़ा उन्होंने कहा कि इस बार जबरन प्रदीप थपलियाल को टिकट दिया गया है वह जनता की पसंद भी नहीं थे पार्टी की ओर से कराये गये सर्वे में अन्य प्रत्याशी जनता की पहली पंसद थे बैठक में निर्णय लिया गया कि पार्टी को टिकट बदलकर मातबर सिंह कंडारी को टिकट देना चाहिये मातबर सिंह कंडारी के लिये सभी कार्यकर्ता एवं अन्य उम्मीदवार कार्य करने के लिये तैयार हैं यदि टिकट नहीं बदला जाता है तो सभी उम्मीदवार एवं हजारों की संख्या में कार्यकर्ता पार्टी से इस्तीफा देकर मातबर सिंह कंडारी को निर्दलीय रूप से चुनाव लड़ाएंगे .

Leave a Reply

Your email address will not be published.