IMA POP 2022: राष्ट्र सुरक्षा के लिए तैयार हुए देश-विदेश के जेंटलमैन कैडेट, 10 दिसंबर को बनेंगे सेना का अभिन्न अंग

देहरादून। भारतीय सैन्य अकादमी (आइएमए) में पासिंग आउट परेड आगामी 10 दिसंबर को होगी। इसमें शिरकत कर देश-विदेश के जेंटलमैन कैडेट बतौर अधिकारी अपने-अपने देश की सेना का अभिन्न अंग बनेंगे। पासिंग आउट परेड की रिहर्सल शुरू हो गई है।

दो दिसंबर से शुरू होंगे कार्यक्रम

बता दें कि अकादमी अधिकारियों के अनुसार दो दिसंबर को ग्रेजुएशन सेरेमनी आयोजित होगी। जिसमें आर्मी कैडेट कॉलेज विंग के कैडेट को जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय की डिग्री से दीक्षित किया जाएगा। इसके बाद एसीसी विंग के यह कैडेट अकादमी का हिस्सा बन जाएंगे। जबकि सात दिसंबर को कमांडेंट अवॉर्ड सेरेमनी आयोजित होगी। जिसमें सैन्य प्रशिक्षण के दौरान उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले कैडेट को पुरस्कृत किया जाएगा। आठ दिसंबर की सुबह कमांडेंट परेड होगी, जबकि मुख्य पासिंग आउट परेड से एक दिन पहले यानी नौ दिसंबर को अकादमी में मल्टी एक्टिविटी डिस्प्ले शो आयोजित किया जाएगा।

अकादमी प्रबंधन परेड की तैयारियों में जुटा

10 दिसंबर में होने वाली पासिंग आउट परेड के लिए सेना के तमाम वरिष्ठ अधिकारी, देश-विदेश के गण्यमान्य व कैडेट के स्वजन भी परेड देखने दून पहुंचेंगे। अकादमी प्रबंधन परेड की तैयारियों में जुटा हुआ है। पासिंग आउट परेड की जेंटलमैन कैडेट जमकर रिहर्सल कर रहे हैं।

90 सालों का है गौरवमयी इतिहास

बता दें, आइएमए एक अक्टूबर 1932 को अस्तित्व में आया था। पिछले 90 वर्षों में अकादमी ने अपनी प्रशिक्षण क्षमता 40 से 1650 जैंटलमैन कैडेट तक बढ़ा दी है। अभी तक 64,145 जैंटलमैन कैडेट अकादमी से पास आउट हुए हैं। इसमें 34 मित्र देशों के 2813 विदेशी कैडेट भी शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.