धर्म संसद के बाद अब नरसिंहानंद ने कहा-अब एक विश्व धर्म संसद आयोजित होगी

[ad_1]

हरिद्वार. शहर में हुई तीन दिवसीय हुई धर्म संसद इस समय सभी के बीच चर्चा का विषय है. सम्मेलन के दौरान मुस्लिम समुदाय के खिलाफ बयानबाजी ने अब राजनीतिक रूप ले लिया है. कई लोग इस हेट स्पीच के बारे में अपना विरोध दर्ज करवा रहे हैं. लेकिन इस सब के बावजूद धर्म संसद के आयोजक महामंडलेश्वर यती नरसिंहानंद को फर्क नहीं पड़ा है. उनके तेवर अब भी इस मामले को लेकर तीखे बने हुए हैं.

हरिद्वार के एक आश्रम पहुंचे यती नरसिंहानंद ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि अब एक विश्व धर्म संसद आयोजित की जाएगी. जिसे और भी ऑर्गेनाइज ढंग से किया जाएगा. नरसिंहानंद ने वसीम रिजवी उर्फ जितेंद्र त्यागी पर दर्ज हुए मुकदमे को भी गलत बताया. उन्होंने कहा कि वसीम रिजवी पर धर्मनगरी हरिद्वार में सच बोलने पर मुकदमा दर्ज कराया गया है जो गलत है. इतना ही नहीं यति नरसिंहानंद ने प्रियंका गांधी के ट्वीट पर गांधी परिवार और महात्मा गांधी पर भी अभद्र टिप्पणी करते हुए गांधी परिवार को हिंदुओं के साथ गद्दारी करने वाला बताया.

नरसिंहानंद के इस तरह की बयानबाजी के बाद से इस मामले के और ज्यादा तूल पकड़ने की संभावना जताई जा रही है. माना जा रहा है कि नरसिंहानंद के इस तरह के तेवर धार्मिक भावनाओं को और भड़काएंगे. इससे यह मामला ठंडा होने की बजाय और बढ़ेगा. उन्हें इस मामले को शांत करने का सोचना चाहिए ना​ कि इस मामले में भड़काने वाली बयानबाजी करना चाहिए.

गौरतलब है कि धर्म संसद से जुड़े वीडियो पिछले कुछ दिनों से सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं. इसमें धर्म संसद में शामिल वक्ता मुस्लिम समुदाय के खिलाफ नफरत भरे शब्दों का इस्तेमाल करते नजर आ रहे हैं. इसे लेकर बड़े लोग ट्विटर के माध्यम से अपना विरोध दर्ज करवा चुके हैं.

आपके शहर से (हरिद्वार)

उत्तराखंड

उत्तराखंड

टैग: सांप्रदायिक तनाव, द्वेषपूर्ण भाषण

.

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.