उत्तराखंड चुनाव: अब शिक्षक संगठन के नेता मयंक पुनेठा ने बढ़ाई भाजपा की मुश्किल, लोहाघाट से की दावेदारी

[ad_1]

पिथौरागढ़. उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव (Uttarakhand Assembly Election 2022) नजदीक आते ही शिक्षक कर्मचारी संगठन ने भी लोहाघाट विधानसभा (Lohaghat Assembly Seat) से अपना उम्मीदवार उतारने का दम भरा है. भाजपा (BJP) के दो बार के विधायक रहे केसी पुनेठा (KC Punetha) के शिक्षक बेटे मयंक (Mayank Punetha) ने इस सीट से अपनी दावेदारी ठोक दी है.

यूपी की तर्ज पर उत्तराखंड विधानसभा में एमएलसी ना होने का दर्द शिक्षक संगठनों में अब छलकने लगा है. शिक्षक संगठन के जिला अध्यक्ष गोविंद बोहरा विधानसभा में कर्मचारियों से जुड़े मुद्दे रखने के लिए राजनीतिक दलों से सदन में जाने के लिए एक टिकट शिक्षक कोटे से देने की मांग करने लगे हैं. इसी के मद्देनजर पिथौरागढ़ और लोहाघाट से दो बार के बीजेपी विधायक रहे केसी पुनेठा के बेटे मयंक पुनेठा चुनावी मैदान में कूद गए हैं.

ये भी पढ़ें- दलित भोजन माता के विवाद का हुआ खुशियों भरा अंत, सूखीढांग स्कूल के सभी छात्रों ने साथ मिलकर खाया मिड-डे मील

पेशे से शिक्षक मयंक कहते हैं कि राजनीति उन्हें विरासत में मिली है. बीजेपी संगठन से लंबे समय से जुड़े मयंक पुनेठा का कहना है, ‘उन्हें शिक्षक और कर्मचारी संगठनों का समर्थन मिल रहा है. कर्मचारियों के साथ क्षेत्र के मुद्दों को लेकर 2022 लोहाघाट विधानसभा चुनाव में उनकी दावेदारी भी है.’

ये भी पढे़ं- उत्तराखंड का पहला क्रोकोडाइल ईको पार्क बनकर तैयार, पर्यटक कर सकेंगे मगरमच्छों का दीदार

लोहाघाट विधानसभा में पहले से ही भाजपा से नरेंद्र लड़वाल, सतीश पांडे की दावेदारी ने मौजूदा भाजपा विधायक पूरन फर्त्याल की मुश्किलें पहले से ही बढ़ा दी हैं. ऐसे में अब शिक्षक नेता मंयक की दावेदारी ने भाजपा में टिकट दावेदारों के बीच मुकाबला और दिलचस्प कर दिया है. लोहाघाट विधानसभा में पिछले 10 साल से भाजपा ही काबिज है. ऐसे में अब शिक्षक कर्मचारियों की यह एकता क्या रंग दिखाती यह आने वाला वक़्त बताएगा.

आपके शहर से (पिथौरागढ़)

उत्तराखंड

पिथौरागढ़

उत्तराखंड

पिथौरागढ़

टैग: BJP, उत्तराखंड चुनाव 2022, उत्तराखंड समाचार

.

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.