उत्तरखंड चुनाव: ‘केदारनाथ की गुफाएं हमने बनवाईं’, हरीश रावत ने कांग्रेस को दिए और कितने क्रेडिट?

[ad_1]

देहरादून. जैसे जैसे चुनाव प्रचार की गति बढ़ रही है, उत्तराखंड के चुनाव से पहले श्रेय लेने की राजनीति भी बढ़ती जा रही है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में केदारनाथ में पुनर्निर्माण और विकास का ढिंढोरा पीट रही भाजपा सरकार को आड़े हाथों लेते हुए पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत का कहना है कि आज जिन गुफाओं में लोग साधना करने आ रहे हैं, उनके काम का श्रेय पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार का है, न कि वर्तमान भाजपा सरकार का. यही नहीं, भाजपा के प्रचार स्लोगन ‘अबकी बार 60 पार’ पर भी जवाबी हमला बोलते हुए हरीश रावत ने कहा कि जनता ने मन तो यह बना लिया है कि ‘अबकी बार भाजपा तड़ीपार’.

साल 2019 में लोकसभा चुनाव के बाद पीएम मोदी केदारनाथ की एक गुफा में साधना के लिए आए थे और तबसे ही भाजपा ने यहां साधना के लिए गुफाओं को विकसित करने का प्रचार शुरू किया. केदारनाथ के पिछले दौरे पर मोदी ने आदि शंकराचार्य के पुनर्निर्मित समाधि स्थल के लोकार्पण अवसर पर 400 करोड़ रुपये के विकास कार्यों का शिलान्यास भी किया था. तब भी रावत ने दावा किया था कि 2013 की आपदा के बाद उनकी अगुवाई वाली कांग्रेस सरकार ने ही यहां पुनर्निर्माण कार्य शुरू करवाए थे. अब खास तौर पर गुफाओं को लेकर रावत ने सीधे हमला बोल दिया है.

और कौन से मुद्दों पर लिया क्रेडिट?
रावत ने राहुल गांधी और कांग्रेस पार्टी को किसान आंदोलन की जीत का श्रेय भी दिया. पीटीआई ने बताया कि देहरादून की रैली के दौरान उन्होंने कहा कि गांधी और कांग्रेस शुरू से ही किसानों के साथ खड़ी रही. कांग्रेस के साथ के चलते ही किसानों का आंदोलन सफल हुआ और तीनों कानून वापस लेने के लिए केंद्र सरकार को मजबूर होना पड़ा. यही नहीं, रावत ने उत्तराखंड में देवस्थानम बोर्ड एक्ट की वापसी का क्रेडिट भी कांग्रेस के विरोध को दिया.

‘लोगों ने बता दिया है भाजपा हारेगी चुनाव’
रावत ने मीडिया से बातचीत करते हुए ज़्यादा भीड़ जुटाने का दावा भी किया. उन्होंने कहा, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली में लोग खर्राटे और जम्हाइयां लेते दिख रहे थे, लकिन जिस तरह गांधी के भाषण के दौरान लोगों में उत्साह दिखा, जैसे आखिर तक लोगों ने उन्हें सुना और उनके जाने के बाद ही लोग परेड ग्राउंड से गए, इससे साफ है कि लोगों ने मन बना लिया है कि इस बार भाजपा का पत्ता साफ हो जाएगा.’

टिकट और आप पर क्या बोले रावत?
किन प्रत्याशियों को इस बार टिकट ​देने की रणनीति पर कांग्रेस काम कर रही है? पीटीआई की खबर के मुताबिक रावत ने साफ कहा कि इस बार कोशिश रहेगी कि ज़्यादा से ज़्यादा पूर्व सेवकों, महिलाओं और युवाओं को मौका दिया जाए, लेकिन जीत का चांस बड़ा आधार रहेगा. वहीं, दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया द्वारा दिल्ली में स्कूलों की सूरत देखने के न्योते के सवाल पर रावत ने कहा, दिल्ली का बजट उत्तराखंड से पांच गुना है, इसलिए ये कोई सवाल ही नहीं है और दूसरे दिल्ली में बमुश्किल एक दर्जन से स्कूलों की हालत ही बदली गई है.

आपके शहर से (देहरादून)

उत्तराखंड

उत्तराखंड

टैग: Harish rawat, उत्तराखंड विधानसभा चुनाव, Uttarakhand Congress, उत्तराखंड की राजनीति

.

[ad_2]

Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published.