Varanasi South Seat: वाराणसी दक्षिणी सीट पर 8 बार से फहरा रहा है भगवा, जानें इस सीट के बारे में सबकुछ

[ad_1]

वाराणसी: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh Information) के वाराणसी जिले की वाराणसी साउथ सीट (वाराणसी दक्षिण सीट-389) भारतीय जनता पार्टी की सबसे मजबूत गढ़ मानी जाती है. इस सीट (Varanasi South Seat) पर पिछले आठ चुनाव यानी 1989 से ही भाजपा का कब्जा रहा है. पिछले 8 चुनाव में सपा से लेकर बसपा तक की सरकारें बनीं, मगर इस सीट पर भगवा पार्टी को अब तक कोई नहीं हरा पाया है. यही वजह है कि इसे भाजपा का सबसे मजबूत किला या यूं कहें कि अभेद दुर्ग कहा जाता है.

अभी वाराणसी दक्षिण सीट से भारतीय जनता पार्टी के डॉ. नीलकंठ तिवारी विधायक हैं. नीलकंठ तिवाही योगी सरकार में राज्यमंत्री भी हैं. 2017 विधानसभा चुनाव में नीलकंठ तिवारी ने कांग्रेस के राजेश मिश्रा को करीब 15 हजार से अधिक वोटों के अंतर से हराया था. इस सीट पर भाजपा को जहां 92560 वोट तो कांग्रेस को 75334 वोट मिले थे. वाराणसी दक्षिण को अगर आज भाजपा का सबसे मजबूत किला कहा जाता है तो इसका सबसे बड़ा श्रेय श्यामदेव राय चौधरी को जाचा है. श्यामदेव राय चौधरी इस सीट पर 7 बार विधायक रहे हैं.

बीते पांच चुनावों में किसने जीत दर्ज की
2017- भाजपा (डॉ नीलकंठ तिवारी)
2012- भाजपा (श्यामदेव राय चौधरी)
2007- भाजपा (श्यामदेव राय चौधरी)
2002- भाजपा (श्यामदेव राय चौधरी)
1996- भाजपा (श्यामदेव राय चौधरी)

2017 विधानसभा चुनाव के नतीजे
बीते विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी की प्रचंड जीत हुई थी. उत्तर प्रदेश विधानसभा की 403 सीटों पर हुए चुनाव में भाजपा को 325 सीटें मिली थी. वहीं कांग्रेस 7, सपा 47 और बसपा 19 सीटें जीतने में सफल हुई थी. इसके अलावा, रालोद के खाते में भी एक सीट गई थी और अन्य का 4 सीटों पर कब्जा रहा.

आपके शहर से (वाराणसी)

उत्तर प्रदेश

उत्तर प्रदेश

टैग: विधानसभा चुनाव, UP Vidhan sabha chunav, उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव

.

[ad_2]

Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published.