Punjab Election: कैप्टन, मजीठिया और बादल के खिलाफ बड़े चेहरों को उतार सकती है कांग्रेस

[ad_1]

चंडीगढ़. पंजाब (Punjab) में कांग्रेस (Congress) अपनी सत्ता को बरकरार रखने के लिए अन्य राजनीतिक दलों के बड़े नेताओं के खिलाफ बड़े चेहरों को चुनाव मैदान में उतार सकती है. यही नहीं पार्टी ने दागी नेताओं को भी टिकट न देने पर अपनी सहमति जताई है. हाल ही में पीपीसीसी और चुनाव समिति (Punjab Election Committee) के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) की अध्यक्षता में हुई पंजाब चुनाव समिति की बैठक में टिकट आवंटन को लेकर कांग्रेस के बड़े नेताओं को दूसरे दलों के बड़े नेताओं के खिलाफ चुनाव लड़ने की सोच खुलकर सामने आई है.

एक मीडिया रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से कहा गया है कि बैठक में यह प्रस्ताव मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी (Charanjit Singh Channi) और नवजोत सिंह सिद्धू के सामने भी रखा गया है. पार्टी चाहती है कि शिअद प्रमुख सुखबीर सिंह बादल (Sukhbir Singh Badal) और पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह (Amarinder Singh) के खिलाफ कांग्रेस का कोई दिग्गज चुनाव लड़े.

रिपोर्ट में कहा गया है कि एआईसीसी नेता राहुल गांधी के करीबी माने जाने वाले पंजाब कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष कुलजीत नागरा (Kuljit Nagra) ने बैठक में पार्टी आलाकमान की भावना की पैरवी की और राहुल गांधी के मुताबिक ‘एक जनरल को एक जनरल के खिलाफ चुनाव लड़ना चाहिए.’ नागरा ने कहा कि सीएम चन्नी और सिद्धू को सुखबीर बादल और बिक्रम सिंह मजीठिया के खिलाफ चुनाव लड़ना चाहिए.

इस पर इस पर सीएम चन्नी ने नागरा से पूछा कि क्या वह सुखबीर बादल के खिलाफ चुनाव लड़ना चाहते हैं. रिपोर्ट में सूत्र के हवाले से कहा गया कि इस पर नागरा ने कहा कि वह पार्टी के वफादार सिपाही हैं और पार्टी जहां भी उन्हें मैदान में उतारेगी, वहीं से चुनाव लड़ेंगे. हालांकि सिद्धू ने इस पर अपनी कोई प्रतिक्रिया जाहिर नहीं की.

बैठक में पंजाब यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष बरिंदर ढिल्लों ने यूथ कांग्रेस जैसे फ्रंटल संगठनों को टिकट देने की मांग उठाई. उन्होंने कहा कि इस तरह सभी को अन्य संगठनों के नेताओं को भी मैदान में उतारने की अनुमति देनी चाहिए. राज्यसभा नेता शमशेर सिंह दुल्लो ने अवैध शराब का मुद्दा उठाया. उन्होंने कहा कि नई सरकार के सत्ता में आने के बाद भी कोई प्रगति नहीं हुई. इस पर एआईसीसी प्रभारी सचिव हरीश चौधरी ने कहा कि यह इन मुद्दों को उठाने का मंच नहीं है. यह सिर्फ टिकटों के बारे में था.

टैग: कांग्रेस, पंजाब

.

[ad_2]

Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published.