Exclusive: सिद्धू ने ED पर लगाए बड़े आरोप, कहा- एजेंसियों के दबाव में पार्टी छोड़ रहे हैं कुछ नेता

[ad_1]

(पंकज कपाही)

चंडीगढ़. पंजाब कांग्रेस (Punjab Congress) के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) ने पंजाब में ‘मुफ्त’ घोषणाओं करने वालों पर निशाना साधा है. न्यूज18 से बातचीत में उन्होंने कहा कि घोषणा आर्थिक हालात के हिसाब से की जानी चाहिए. इस दौरान उन्होंने जांच एजेंसियों पर भी पंजाब के नेताओं पर दबाव डालने के आरोप लगाए हैं. पंजाब में 2022 में चुनाव होने हैं. कांग्रेस उम्मीदवारों के बीच टिकट वितरण को लेकर लगातार बैठकें कर रही है.

न्यूज18 से बातचीत में सिद्धू ने पंजाब में मुख्यमंत्री चेहरे का भी जिक्र किया. उन्होंने कहा, ‘पंजाब के लोग यह जानना चाहते हैं कि सीएम चेहरा कौन होगा. कांग्रेस को सीएम चेहरे की घोषणा करनी चाहिए.’ पार्टी ने अभी तक सीएम चेहरे का ऐलान नहीं किया है. समाचार एजेंसी एएनआई की एक रिपोर्ट के अनुसार, प्रदेश चुनाव के लिए कांग्रेस के सीएम चेहरा घोषित करने की संभावनाए नहीं हैं. रिपोर्ट में कहा गया था कि पार्टी सामूहिक नेतृत्व का चुनाव कर सकती है.

यह भी पढ़ें: पंजाब: बगैर CM चेहरे के चुनाव लड़ेगी कांग्रेस, सामूहिक नेतृत्व पर जताया भरोसा

फतेह सिंह बाजवा के भाजपा में शामिल होने को लेकर सिद्धू ने कहा कि उन्हें कांग्रेस में टिकट नहीं मिल रहा है इसलिए वे बीजेपी में शामिल हुए… कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि हमारे पास बेहतर विकल्प हैं. उन्होंने आरोप लगाए कि कुछ नेता ईडी और दूसरी एजेंसियों के दबाव में पार्टी छोड़कर जा रहे हैं. पूर्व भारतीय क्रिकेटर हरभजन सिंह के सियासी डेब्यू को लेकर सिद्धू ने बताया, ‘वे शामिल हो सकते हैं, इसकी अभी पुष्टि नहीं कर सकता.’

मंगलवार को कांग्रेस विधायक फतेह सिंह बाजवा और श्री हरगोबिंदपुर साहिब सीट से बलविंदर सिंह लड्डी केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत की मौजूदगी में भाजपा में शामिल हो गए. बाजवा कांग्रेस के राज्यसभा सदस्य प्रताप सिंह बाजवा के भाई हैं. इनके अलावा शिअद नेता गुरतेज सिंह गुंधियाना, कमल बख्शी, मधुमीत, जगदीप सिंह धालीवाल, राजदेव खालसी और पूर्व क्रिकेटर दिनेश मोंगिया ने भी भाजपा का दामन थामा.

टैग: कांग्रेस, नवजोत सिंह सिद्धू, पंजाब चुनाव

.

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.