स्वर्ण मंदिर में गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी की कोशिश, लोगों ने युवक को पीट-पीटकर मार डाला

[ad_1]

अमृतसर. अमृतसर में स्वर्ण मंदिर में शनिवार शाम कथित तौर पर बेअदबी का प्रयास करने वाले उत्तर प्रदेश के व्यक्ति की गुस्साई भीड़ ने पिटाई कर दी, जिसके बाद उसकी मौत हो गई. यह घटना उस समय हुई जब वह व्यक्ति पवित्र स्थल पर सुनहरी ग्रिल फांदकर तलवार उठाने के बाद उस स्थान के पास पहुंच गया जहां सिख ग्रंथी पवित्र गुरु ग्रंथ साहिब का पाठ कर रहे थे.

शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (एसजीपीसी) कार्यबल के सदस्यों ने उस व्यक्ति को पकड़ लिया. जब उसे एसजीपीसी कार्यालय ले जाया जा रहा था तब गुस्साई भीड़ ने उसकी बुरी तरह पिटाई कर दी, जिसके बाद उसकी मौत हो गई.

प्रकाश सिंह बादल ने की घटना की निंदा
इस बीच, समाचार एजेंसी एएनआई ने बताया कि पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने अमृतसर दरबार साहिब में बेअदबी मामले की निंदा की है. साथ ही उन्होंने कहा है कि घटना के पीछे कोई बड़ी साजिश हो सकती है जिसे बेनकाब करना बहुत जरूरी है, जिसके लिए केंद्र सरकार या फिर न्यायिक स्तर पर इसकी जांच होनी चाहिए.

‘पंजाब का माहौल खराब करने की साजिश’
वहीं, शिरोमणि अकाली दल के प्रवक्ता चरणजीत सिंह बराड़ ने घटना को साजिश करार दिया. एएनआई ने उनके हवाले से कहा, “यह एक साजिश के तहत की गई घटना है. धार्मिक भावनाओं को भड़का कर पंजाब का माहौल खराब करने की साजिश की जा रही है.”

एसजीपीसी परिसर के आसपास भारी पुलिस बल तैनात
पुलिस उपायुक्त पीएस भंडाल ने कहा कि उत्तर प्रदेश का रहने वाला व्यक्ति लगभग 30 वर्ष का था और उसकी पहचान की जा रही है. सभी सीसीटीवी कैमरों की जांच की जा रही है कि वह स्वर्ण मंदिर में कब दाखिल हुआ और कितने लोग उसके साथ थे. घटना के बाद बड़ी संख्या में सिख श्रद्धालुओं और विभिन्न सिख संगठनों ने एसजीपीसी की ढिलाई के लिए उसकी आलोचना की. कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए तेजा सिंह समुंदरी हॉल में एसजीपीसी परिसर के आसपास भारी पुलिस बल तैनात किया गया है.’पंजाब का माहौल खराब करने की साजिश’

चश्मदीदों ने क्या कहा
द टाइम्स ऑफ इंडिया ने एक प्रत्यक्षदर्शी के हवाले से कहा कि युवक संगत के साथ दर्शन का इंतजार कर रहा था, लेकिन अचानक वह सुरक्षा रेलिंग पर चढ़ गया और श्री गुरु ग्रंथ साहिब के ‘सरूप’ के सामने रखी सोने की तलवार को उठाने की कोशिश करने लगा. एक अन्य चश्मदीद ने बताया कि आरोपी ने पास में रखी फूलों की पंखुड़ियों को लेने की भी कोशिश की.

‘युवक की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई’
एक पुलिस अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर टीओआई को पुष्टि की कि युवक की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई है और उसका शव पुलिस को नहीं सौंपा गया, बल्कि सिविल अस्पताल में पड़ा हुआ था.

(इनपुट भाषा से भी)

टैग: अमृतसर, पंजाब

.

[ad_2]

Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published.