पंजाब में हिन्दू वोटर्स को लुभाने के लिए हर दल के लोग श्री कृष्ण-बलराम रथयात्रा में पहुंचे

[ad_1]

लुधियाना. पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी (Charanjit Singh Channi) ने रविवार को वार्षिक श्री कृष्ण-बलराम रथ यात्रा (Shri Krishna-Balram Rath Yatra)को ‘राज्य उत्सव’ घोषित किया. आधिकारिक बयान के मुताबिक मुख्यमंत्री ने लुधियाना के इस्कॉन मंदिर (ISKCON Temple of Ludhiana) के लिए भी 2.51 करोड़ रुपये देने की घोषणा की है. उन्होंने दुर्गा माता मंदिर के पास जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि श्री कृष्ण-बलराम रथयात्रा को ‘राज्य उत्सव’ के तौर पर हर साल पंजाब सरकार द्वारा मनाया जाएगा. भगवद गीता पर मुख्यमंत्री ने कहा कि इस पवित्र पुस्तक ने सभी के जीवन को दिशा दी है. युवाओं को भगवद गीता की शिक्षाओं को ग्रहण करना चाहिए और अपने जीवन में उनका अनुकरण करना चाहिए.’

चन्नी ने कहा कि पंजाब सरकार पटियाला में भगवद गीता और रमायण अनुसंधान केंद्र विकसित कर रही है. उन्होंने कहा कि धार्मिक पुस्तकें प्रेरणा के सबसे बड़े स्रोत हैं जो हमारे बेहतर जीवन के लिए मार्गदर्शन करते हैं. रविवार को रथयात्रा में हर पार्टी के नेताओं और उम्मीदवार इस रथयात्रा में दिखे.

कौन कौन पहुंचा?
राजनीतिक नेताओं और सभी प्रमुख दलों के घोषित उम्मीदवारों ने हिंदू मतदाताओं को लुभाने के लिए रथ यात्रा में भाग लिया. रथ यात्रा में आप, शिअद और भाजपा समेत अन्य दलों के कई नेता और उम्मीदवार भी शामिल हुए. शिअद-भाजपा के अलग होने के साथ ही पंजाब में इस बार चौतरफा मुकाबला देखने को मिल रहा है.

लुधियाना पश्चिम से शिअद के उम्मीदवार महिंदर सिंह ग्रेवाल और लुधियाना सेंट्रल के उम्मीदवार प्रीतपाल सिंह (गुरुद्वारा दुखनिवारन साहिब प्रबंधन समिति के अध्यक्ष भी) यात्रा में शामिल हुए.आप की ओर से जिलाध्यक्ष सुरेश गोयल, उम्मीदवार कुलवंत सिद्धू (अतम नगर), दलजीत ग्रेवाल (पूर्व) और मदन लाल बग्गा (उत्तर) शामिल हुए.

कार्यक्रम में भाजपा के प्रदेश महासचिव जीवन गुप्ता, लुधियाना जिलाध्यक्ष पुष्पिंदर सिंघल, बिक्रम सिंह सिद्धू (जो लुधियाना पश्चिम से भाजपा टिकट के लिए होड़ में हैं) और पार्टी के अन्य नेता मौजूद थे.

टैग: Charanjit Singh Channi, कांग्रेस, पंजाब, पंजाब खबर

.

[ad_2]

Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published.