चंडीगढ़ निकाय चुनाव में ढाबे वाले ने बीजेपी मेयर को दी पटखनी, बताया क्‍यों उतरे चुनाव के मैदान में

[ad_1]

चंडीगढ़. चंडीगढ़ निकाय चुनाव (Chandigarh Municipal Corporation Poll) में आम आदमी पार्टी सबसे बड़े पार्टी बनकर उभरी है. इस चुनाव में भले ही जीत आम आदमी पार्टी की हुई हो, लेकिन सबसे ज्यादा चर्चा दमनप्रीत सिंह (Damanpreet Singh) की हो रही है. दरअसल दमनप्रीत सिंह ढाबा चलाते हैं और उन्‍होंने इस निकाय चुनाव में मौजूदा मेयर बीजेपी (BJP) के रविकांत शर्मा (Mayor Ravi Kant Sharma) को हराया है. बता दें कि दमनप्रीत ने पहली बार चुनाव के मैदान में अपनी किस्‍मत आजमायी थी, लेकिन उनकी धमाकेदार जीत ने हर किसी को हैरान कर दिया है. हालांकि चुनाव में आप की इलेक्शन कैंपेन कमेटी के प्रमुख चंद्र मुखी शर्मा भी चुनाव हार गए हैं.

चंडीगढ़ निकाय चुनाव में जीत हासिल करने के बाद दमनप्रीत ने कहा कि उन्‍हें चुनाव जीतकर काफी अच्‍छा लग रहा है. उन्‍होंने कहा कि जिन लोगों में मुझे वोट देकर मेरे ऊपर भरोसा जताया है उन सभी का मैं धन्‍यवाद देता हूं. मेरी कोशिश होगी कि मैं उनके भरोसे पर खरा उतरूं. दमनप्रीत सेक्‍टर 22 में ढाबा चलाते हैं. उनकी इस धमाकेदार जीत के बारे में जब उनसे पूछा गया तो उन्‍होंने कहा कि उनके ढाबे से किसान आंदोलन में शामिल किसानों के लिए मटका चौक पर लंगर जाता था. उन्हें खाना-पीने की सेवाएं दी जाती थीं. उन्‍होंने कहा कि इस बात की जानकारी जब बीजेपी मेयर को लगी तो उन्‍होंने हमें परेशान करना शुरू कर दिया. इसी दौरान उनके ऊपर हमला हो गया. उस समय कहा गया कि उन पर गुंडों ने हमला किया. इस घटना के बाद म्‍यूनिसिपल कारपोरेशन और अन्‍य अध‍िकारियों ने उन्‍हें बहुत परेशान किया.

दमनप्रीम ने बताया कि 1 महीने के अंदर उनके ऊपर 40 से 45 हजार रुपये के चालान किए गए. इसके बाद सभी चालान को मैंने अपनी जेब में रखा और भ्रष्‍टाचार के खिलाफ बिगुल फूंक दिया. मेयर बनने की संभावनाओं पर दमनप्रीत ने कहा कि ये फैसला पार्टी आलाकमान को लेना है. अगर पार्टी चाहेगी तो मैं इस पद को संभालने के लिए पूरी तरह से तैयार हूं.

इसे भी पढ़ें :- चंडीगढ़: नगर निगम चुनाव में AAP ने कैसे BJP और कांग्रेस को दी पटखनी, जानें जीत की असली वजह

दमनप्रीत ने कहा कि चंडीगढ़ में गंदगी एक बड़ा मुद्दा बनता जा रहा है. पंजाब में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर दमनप्रीत ने कहा कि पहले यहां की जनता के सामने बीजेपी, अकाली दल और कांग्रेस के अलावा कोई विकल्‍प नहीं था लेकिन आम आदमी पार्टी यहां पर एक बड़ा विकल्‍प बनकर उभरी है. दिल्‍ली के मॉडल को पंजाब में लाने की तैयारी है. इस बार के विधानसभा चुनाव में भी आम आदमी पार्टी की जीत पक्‍की है.

टैग: नगर निगम, नगर निगम चुनाव, पंजाब

.

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.