चंडीगढ़ नगर निगम चुनाव: मौजूदा मेयर सहित भाजपा के कई दिग्गज नेताओं को मिली हार, AAP ने सबको चौंकाया

[ad_1]

चंडीगढ़. चंडीगढ़ नगर निगम चुनाव (चंडीगढ़ नगर निगम चुनाव) में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के मौजूदा महापौर रविकांत शर्मा को आम आदमी पार्टी (आप) के प्रत्याशी दमनप्रीत सिंह के हाथों हार मिली है. सोमवार को अब तक घोषित परिणामों में यह जानकारी सामने आई है. यहां शुक्रवार को हुए नगर निगम चुनाव के लिए डाले गए मतों की गणना में आम आदमी पार्टी अन्य दलों पर भारी पड़ी है. आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) को 35 वार्ड में से 14 सीटों पर जीत मिली है, जबकि भाजपा 12 सीटों के साथ दूसरे पायदान पर है और कांग्रेस को सिर्फ 8 सीटों के साथ संतोष करना पड़ा है. वहीं, शिरोमणि अकाली दल ने नगर निगम चुनाव में महज एक सीट पर जीत हासिल की है.

रविकांत शर्मा दमनप्रीत सिंह से अपनी सीट वार्ड संख्या 17 पर 828 मतों के अंतर से हार गए. पूर्व महापौर एवं भाजपा उम्मीदवार दवेश मौदगिल वार्ड संख्या 21 से आप के जसबीर से 939 मतों से हार गए. इसके अलावा, वार्ड नं 18 से आप उम्मीदवार तरुना मेहता ने भाजपा की मौजूदा पार्षद सुनीता धवन को हराकर जीत हासिल की. इसी तरह से, आप की अंजू कत्याल ने वार्ड 22 से भाजपा की मौजूदा पार्षद हीरा नेगी को हराया.

पहली बार AAP ने चंडीगढ़ नगर निगम चुनाव में रखा था कदम
पहली बार चंडीगढ़ नगर निगम चुनाव लड़ रही आप ने अन्य पार्टियों को चौंकाते हुए 14 सीटों पर कब्जा जमाकर आगामी विधानसभा चुनाव के लिए अपनी ताकत दिखा दी है. नगर निगम के 35 वार्डों के लिए नौ मतगणना केंद्र बनाए गए थे. वार्डों की संख्या 2016 में 26 थी जो बढ़कर अब 35 हो गई है.

पंजाब चुनाव से पहले चंडीगढ़ में लहराया आप का परचम, केजरीवाल बोले- ये बदलाव का संकेत

आप, भाजपा और कांग्रेस में था त्रिकोणीय मुकाबला
परंपरागत रूप से, हर पांच साल में होने वाले नगरपालिका चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और कांग्रेस के बीच कांटे की टक्कर देखने को मिलती है, लेकिन आम आदमी पार्टी के आ जाने से इस बार मुकाबला त्रिकोणीय हो गया था. मौजूदा नगर निकाय में भाजपा के पास बहुमत है. पिछले नगरपालिका चुनावों में, भाजपा ने 20 सीटें जीती थीं और इसकी भूतपूर्व सहयोगी शिरोमणि अकाली दल के हिस्से एक सीट आई थी. कांग्रेस के हाथ बस चार सीटें आई थीं.

इन चुनावी मुद्दों पर लड़े थे तीनों दल
भाजपा ने पिछले पांच वर्षों की अपनी “उपलब्धियों” के सहारे चुनाव लड़ा जबकि, कांग्रेस और आप ने विकास कार्य करने में कथित तौर पर विफल रहने के लिए भाजपा पर निशाना साधा और ‘स्वच्छ सर्वेक्षण’ (स्वच्छता के लिए एक रैंकिंग) रैंकिंग में शहर के नीचे जाने पर उसकी आलोचना की. दोनों दलों ने भाजपा को दादुमाजरा कूड़ा भंडारण स्थल की समस्या न सुलझाने और आवश्यक सामग्रियों की कीमतें बढ़ने को लेकर भी घेरा है.

टैग: Aam aadmi party, BJP, चंडीगढ़, चंडीगढ़ समाचार, कांग्रेस, Shiromani Akali Dal

.

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.