अनुपूरक बजट में आदिवासियों के लिए सिर्फ 400 रुपये, हंगामे के बीच विधानसभा की कार्यवाही अनिश्चितकालीन तक स्थगित…

[ad_1]

भोपाल. मध्य प्रदेश विधानसभा (MP Meeting) के शीतकालीन सत्र (Winter session) का आखिरी दिन हंगामेदार रहा. करीब 21 हजार करोड़ के अनुपूरक बजट (Supplementary Funds) में आदिवासियों के लिए सिर्फ 400 रुपये रखने पर कांग्रेस विधायकों ने जमकर हंगामा किया.  कांग्रेस के इस हंगामे के बीच सदन की कार्यवाही अनिश्चितकालीन के लिए स्थगित कर दी गयी.

आज विधानसभा में शीतकालीन सत्र का आखिरी दिन था. इस दौरान कांग्रेस ने शुरू से लेकर आखिरी तक जमकर हंगामा किया. पूर्व मंत्री और कांग्रेस विधायक ओमकार सिंह मरकाम ने कहा आदिवासियों के लिए अनुपूरक बजट में सिर्फ 400 रुपये का प्रावधान किया गया है. ये नाकाफी है. उन्होंने कहा यह आदिवासियों का अपमान है. सदन में इस पर चर्चा नहीं हुई. बिना चर्चा के बजट पारित कर दिया गया. इतने कम बजट से कैसे आदिवासियों का विकास होगा.

आदिवासियों के लिए 400 रुपये नाकाफी
400 रुपये के बजट को नाकाफी बताते हुए कांग्रेस विधायकों ने विधानसभा में हंगामा किया. पहले प्रश्नकाल कांग्रेस के इस हंगामे की भेंट चढ़ा. 12:00 बजे के बाद फिर कार्यवाही शुरू हुई तो हंगामे के बीच विधानसभा अध्यक्ष ने तमाम मुद्दों को सुनते हुए विधानसभा की कार्यवाही को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया.

सरकार का जवाब
विधानसभा में आदिवासी बजट के मुद्दे पर हुए हंगामे पर गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कांग्रेस कहती है कि सत्र पूरा चले. लेकिन 4 दिन से कांग्रेस ने प्रश्नकाल नहीं चलने दिया. ऐसा संवाद  31 साल में विपक्ष का नहीं देखा. कल बजट पर चर्चा करनी थी. बात को उठाना था. लेकिन कल की बात आज उठा रही है. इनको यह ज्ञान नहीं है कि बजट में 0 भी आता है तो वह बजट कहलाता है. हम एक रुपये बजट का प्रावधान कर सकते हैं. यह बजटीय प्रावधान है. बाद में काम होते हैं. कांग्रेस सदन में भी हर मामले हर विधेयक पर चर्चा से भागती है. उन्होंने यह भी कहा कि ओबीसी आरक्षण मामले में पिछड़ा वर्ग के लोग कांग्रेस से नाराज हैं. आदिवासियों के साथ भी इन्होंने ही विश्वासघात किया है. इसलिए हर वर्ग के लोग कांग्रेस से दूर हो रहे हैं.

आपके शहर से (भोपाल)

मध्य प्रदेश

मध्य प्रदेश

टैग: मध्य प्रदेश विधानसभा, मध्य प्रदेश ताजा खबर, शीतकालीन सत्र

.

[ad_2]

Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published.