महिला की टिकट पर कंडक्टर ने लिख दिया अपना नंबर, फिर हुआ ये हाल

[ad_1]

चंडीगढ़. हरियाणा रोडवेज (हरियाणा रोडवेज) के चालक-परिचालकों के किस्से अकसर चर्चा में रहते हैं. एक नया किस्सा कुछ ऐसा ही है, जो आपको हैरान कर देगा. मामला महिला से जुड़ा है, जो रोडवेज की बस में यात्रा कर रही थी. परिचालक (कंडक्टर) को बस में सवार इस महिला को टिकट पर अपना नंबर लिखकर देना महंगा पड़ गया.

मामले की शिकायत मिलने पर हरियाणा महिला आयोग ने परिवहन विभाग से जवाब तलब कर लिया है. मामला संज्ञान में आने पर रोडवेज विभाग ने परिचालक महेंद्र को चार्जशीट कर दिया गया है, जो कालका सब डिपो में कार्यरत बताया जा रहा है. हरियाणा राज्य महिला आयोग को ट्वीट करके रोहित कुमार ने इस मामले की शिकायत दी थी.

रोहित ने कहा था कि हरियाणा सरकार ने बस में सफर करने वाली महिलाओं को टिकट पर परिचालक का मोबाइल नंबर लिखकर देने की नई सुविधा शुरू की है. इसके बाद आयोग ने टिकट पर दिए गए नंबर पर संपर्क किया तो पता चला कि मोहन परिचालक सरकारी ड्यूटी पर जींद जा रहा है. यह मोबाइल नंबर उसी का है.

कंडक्टर का मकसद गलत: हरियाणा महिला आयोग
इसके बाद हरियाणा महिला आयोग ने रोडवेज विभाग पंचकूला को परिचालक के खिलाफ कार्रवाई के लिए लिखा. यही नहीं, आयोग ने दो दिन के अंदर अपनी रिपोर्ट भेजने के लिए कहा है. कालका उप डिपो के परिचालक मोहन ने महिलाओं से संपर्क करने के लिए टिकट पर अपना नंबर अंकित कर रखा है, आयोग ने कहा कि यह गलत है.

आयोग के अनुसार सरकारी टिकट पर महिलाओं को व्यक्तिगत नंबर देना अप्रत्यक्ष रूप से छेड़छाड़ की श्रेणी में आता है. यह मामला गंभीर है. आयोग के पत्र पर 20 दिसंबर 2021 को परिवहन विभाग ने परिचालक मोहन लाल को चार्जशीट करने की बात कही गई थी, अब हरियाणा राज्य महिला आयोग की चेयरपर्सन प्रीति भारद्वाज दलाल का कहना है कि आयोग को शिकायत मिलने पर रोडवेज विभाग से जवाब तलब किया गया, जिस पर उन्होंने परिचालक के खिलाफ कार्रवाई की पुष्टि की. फिलहाल मामला सुर्खियों में है.

आपके शहर से (चंडीगढ़)

टैग: बस सेवाएं, हरियाणा समाचार

.

[ad_2]

Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published.