फतेहाबाद: विजिलेंस ने SDM भारत भूषण सहित कई लोगों पर दर्ज किया केस, ये है मामला

[ad_1]

फ़तेहाबाद. हरियाणा के फतेहाबाद (Fatehabad) में एक बड़ी खबर सामने आई है. एसडीएम भारत भूषण (SDM Bharat Bhushan) को सजायाफता मुजरिम बाला सिंह के साथ मिलकर रतिया (Ratia) में औने-पौने दामों पर विवादित प्रोपर्टी खरीदना भारी पड़ गया है. स्टेट विजिलेंस ब्यूरो ने इंस्पेक्टर की शिकायत पर एसडीएम भारत भूषण, उनकी धर्मपत्नी सारिका, पुलिस से बर्खास्त हैड कांस्टेबल बाला सिंह, बाला सिंह की पत्नी कर्मजीत कौर, रतिया के पटवारी मदन और एक अन्य के विरुद्ध भ्रष्टाचार निरोधक अधिनियम के अलावा आईपीसी एक्ट की धारा 420, 468, 471व 120-बी के तहत मुकदमा दर्ज (Case Registered) किया है. विजिलेंस टीम आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए घेरा डाले हुए है. लेकिन अभी तक कोई भी आरोपी पुलिस के हत्थे नहीं चढ़ा है.

उल्लेखनीय है कि एसडीएम ने अपने पद का दुरुपयोग करते हुए अपनी पत्नी व बाला सिंह की पत्नी के नाम 29 अक्तूबर 2021 को 5 कनाल 16 मरले की रजिस्ट्री नम्बर 10429 करवाई थी. यह जमीन मिगलानी अस्पताल के पास लक्ष्मी ऑयल एण्ड कॉटन फैक्ट्री की है. जमाबंदी व फर्द में इस जमीन को गैर मुमकिन व कारखाना लिखा है. लेकिन एसडीएम ने अपने पद का दुरुपयोग कर इस भूमि का कोड बदलकर कृषि भूमि दिखाकर 45 लाख रुपये में रजिस्ट्री करवा ली.

एसडीएम का फोन स्विच ऑफ था
इस जमीन की रजिस्ट्री करवाते वक्त नगर पालिका से न तो प्रोपर्टी आईडी बनवाई गई और न ही एनओसी ली गई. यह रजिस्ट्री कांता देवी ने करवाई थी. लेकिन जिरकपुर निवासी अमृतपाल ने इस जमीन पर अपना मालिकाना हक बताते हुए जिला प्रशासन को शिकायत दी थी. इस शिकायत के बाद इस रजिस्ट्री को इम्पाउंड कर दिया गया था. सुशासन दिवस पर विजिलेंस ब्यूरो ने बड़ी कार्रवाई कर प्रदेश की जनता का विश्वास जीतने के लिए बड़ी पहल की है. जब इस मामले में रतिया के एसडीएम से बात करनी चाही तो उनका फोन स्विच ऑफ था.

आपके शहर से (फतेहाबाद)

टैग: फतेहाबाद खबर, हरियाणा समाचार, हरियाणा पुलिस

.

[ad_2]

Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published.