करनाल में आढ़ती ने की खुदकुशी, 6 पेज के सुसाइड नोट में लिखी पूरी कहानी

[ad_1]

हिमांशु नारंग
करनाल. हरियाणा के करनाल (Karnal Information) के गांव बल्ला में एक आढ़ती ने पैसों के लेन-देन से परेशान होकर जहरीला पदार्थ खाकर सुसाइड कर लिया. जहर खाने से पहले सुसाइड के लिए उकसाने का नोट में आरोप लगाया गया है. नरेला अनाज मंडी और अलीगढ़ मंडी के व्यापारियों ने पैसों के लिए दवाब बना हुआ था. रात को तबीयत खराब होने के बाद अस्पताल में भर्ती करवाया गया था और बाद में उसने दम तोड़ दिया. पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. सुसाइड नोट के आधार पर कार्रवाई अमल में लाई जा रही है.

मृतक के भाई कर्मचंद ने बताया कि उसके छोटे भाई दीपक की नरेला अनाज मंडी में आढ़त की दुकान थी. उसने अलीगढ़ से करीब 80 लाख रुपये लेने थे. ये पैसे अनाज मंडी नरेला से उठाकर दिए हुए थे. नरेला अनाज मंडी वाले पैसों के लिए दवाब बना रहे थे. उसके लाइसेंस को रद्द करवाने की बात का दवाब बना रहे थे, जिसने पैसे देने थे वो अलीगढ़ चला गया. मंगलवार को धोखे से नया माल खरीद लिया और पैसे देने से मना कर दिया. बाद में मारने की भी धमकी देने लगा. मृतक के पास दो बच्चे हैं.

जहर खाने के बाद हो रही थींं उल्टियां
परिवार के लोगों ने देखा कि दीपक को उल्टी लगी हुई है,तक डॉक्टर को बुलाया. इसके बाद करनाल लेकर आए और वहां पर कुछ सुधार हुआ, लेकिन कुछ समय के बाद उसकी मौत हो गई. उनकी जेब से सुसाइड नोट मिला. जिसमें लिखा था कि हमारा लेन-देन लगभग बराबर था. जितना ही हमने देना था, उतना ही लेना था. इस समय लेने वालों ने काफी दवाब बना रखा था. उन्हें कई बार कहा कि वे मार्च तक हिसाब कर देंगे, लेकिन दवाब ज्यादा होने के कारण वो सहन नहीं कर सके.

क्या कहती है पुलिस
जांच अधिकारी ने बताया कि बल्ला के रहने वाले दीपक नरेला में आढ़त की दुकान करते हैं. मंगलवार को इसके पास 850 धान की बोरी आई थी. इसको पड़ोस के आढ़त ने खरीद ली. खरीद के बाद पैसे देने से मना कर दिया. 6 पेज का सुसाइड नोट लिखा. गुरुवार को अनाज मंडी से वापस आकर जहरीला पदार्थ खा लिया और शुक्रवार को मौत हो गई. शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है. उकसाने का केस दर्ज किया जाएगा.

आपके शहर से (करनाल)

टैग: किसान आत्महत्या, हरियाणा समाचार लाइव, करनाल समाचार

.

[ad_2]

Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published.