अनोखा गांवः बेटियों की पढ़ाई में पैसा न बने रोड़ा, इसलिए हर महीने देते हैं 100 रुपये का इनाम, देखें VIDEO

[ad_1]

जींद. हरियाणा के जींद में जुलाना कस्बे के बूढ़ा खेड़ा लाठर गांव (Lathar Village) ने महिला सशक्तिकरण (Ladies Empowerment) की तरफ एक अच्छी पहल की है. सामाजिक सरोकार परिवार ने एक अनोखी पहल की शुरुआत की है. गांव की स्कूल से लेकर कॉलेज जाने वाली प्रत्येक बेटी को मान-सम्मान देने की एक योजना शुरू की गई है.

गांव बुड्ढा खेड़ा लाठर में भव्य कार्यक्रम आयोजित कर बेटियों को लाडो सरस्वती अवार्ड (Lado Saraswati Award) की शुरुआत 100 रुपये प्रतिमाह देने की घोषणा की गई. गांव में ऐसी 813 बेटियों को आज एक कार्यक्रम के दौरान सम्मानित किया गया और प्रत्येक छात्रा को 100 रुपए से सम्मानित किया. इस तरह की स्कीम करने वाला जींद जिले का ये पहला गांव है, लड़कियों के प्रति ग्रामीण क्षेत्र सोच बदल रही है.

आज 813 बेटियों को दी गई पहली किस्त

जुलाना खंड के बुड्ढा खेड़ा लाठर गांव में सामाजिक संस्था सामाजिक सरोकार परिवार द्वारा ऐसी अनोखी पहल की गई है, जो पहले किसी गांव ने नही की है. गांव में पहली कक्षा से पोस्ट ग्रेजुएट तक पढ़ने वाली प्रत्येक बेटी को 100 रुपये प्रतिमाह लाड्डो सरस्वती अवार्ड शुरू कर आर्थिक सहायता उपलब्ध कराने का निर्णय लिया गया.

सामाजिक सरोकार परिवार ने की पहल

आज इस अवार्ड की शुरुआत बुड्ढा खेड़ा लाठर गांव के स्टेडियम में एक कार्यक्रम आयोजित कर की गई, जिसमें गांव के साथ-साथ खंड के 38 गांव के लोग भी कार्यक्रम में शामिल हुए. शिक्षा ग्रहण करने वाली बेटियों को आशीर्वाद दिया. आज गांव की 813 बेटियों को ₹100 प्रति माह आर्थिक सहायता देकर इस योजना की शुरुआत की गई. सामाजिक सरोकार परिवार के प्रदेश अध्यक्ष महंत योगी संजीव नाथ ने बेटियों को राशि देकर कार्यक्रम की शुरुआत की.

बेटियों के लिए ऐसी पहल हर गांव को करनी चाहिए

सामाजिक सरोकार परिवार के प्रदेश अध्यक्ष योगी संजीव नाथ ने कहा कि आज गांव की बेटियों के मान सम्मान के लिए लाडो सरस्वती अवार्ड की शुरुआत की जा रही है, जिसमें संस्था की ओर से गांव की प्रत्येक पहली से पोस्ट ग्रेजुएट तक पढ़ने वाली बहन-बेटी को ₹100 प्रतिमाह आर्थिक सहायता दी जाएगी. संस्था का सहयोग सभी ग्रामीणों के सहयोग से किया जाता रहा है.

आपके शहर से (जींद)

टैग: हरियाणा समाचार, हरियाणा समाचार लाइव, अनोखा फैसला, ग्राम अभियान

.

[ad_2]

Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published.