जानिए कुंडली से कैसे बनता है विदेश यात्रा का योग

0
209

यदि हम विदेश जाना चाहते हैं तो योजना बनाने से पहले यह जान लेना अतिआवश्यक हैं की क्या हमारी कुंडली में विदेश योग है अथवा नहीं। क्योकि यदि हमारी कुंडली में स्थित ग्रह हमें विदेश यात्रा का योग प्रदान नहीं करते तो विदेश जाने के प्रयासों में हमारा अमूल्य समय और धन खर्च हो जाता हैं, तो विदेश की प्लानिंग करने से पहले हमें किसी अनुभवी दैवज्ञ ( ज्योतिषी ) द्वारा कुंडली का निरीक्षण करवाकर यह निश्चित कर लेना चाहिए कि हमारी कुंडली में विदेश जाकर काम करने या विदेश जाकर बसने के योग है भी या नहीं ?

  •  चलिए आज हम कुंडली के विदेश संबंधी कुछ योगों को जानने की कोशिश करते हैं।
  • सबसे पहले हम लग्न और लग्न के स्वामी की बात करेंगे। यदि लग्न मजबूत हो और लग्न का स्वामी कुंडली के सातवें, तीसरे, नौवे या बारहवें भाव से सम्बन्ध स्थापित करें तो यह कुण्डली में स्थित एक विदेश योग होता हैं।
  • 5, 9, 12 भाव मूल रूप से विशेष प्रभावी होते हैं विदेश यात्रा के सम्बन्ध में। नीच पापी ग्रह और क्रूर गृह का बलवान होना और शुभ ग्रहों का कमजोर होना भी विदेश यात्रा में सहायक होता हैं।
    शनि,मंगल के साथ साथ राहू की प्रमुख भूमिका होती है विदेश प्रवास और स्थायी रूप से वहाँ रहने की।
  • वृष, मिथुन, कन्या, तुला, मकर, कुम्भ राशि के लोग सबसे अधिक विदेश जाते है और कभी कभी वही पर बस भी जाते हैं।
  •  जिनका जन्म दिनांक 2, 11, 20, 29 होता हैं ये लोग भी विदेश जाते है और वही काम काज भी करते हैं।
  •  जिनका जन्म 4, 13, 22, 31 का होता हैं या तो ये विदेश बहुत जाते हैं अथवा कभी नहीं जाते है।
    जल तत्व की राशि कर्क, वृश्चिक, मीन राशि के लोग भी ऐसे ही या तो बहुत जाते है या कभी नहीं जाते हैं।
  • जिनके शुभ ग्रह जैसे चंद्र, बुध, शुक्र, गुरु बलवान और प्रभावी होते हैं वे लोग विदेश नहीं जाते हैं।
  • शुभ ग्रहों की दशा में भी विदेश यात्रा नहीं होती हैं।
  • अब आइये आपको बताये कि अगर आप विदेश प्रवास के लिए प्रयासरत हैं और कोई बाधा आ रही हैं तो क्या करना चाहिए?
  • वायु तत्व के कारक शनि के तांत्रिक मंत्र का जाप करना श्रेष्ठ रहेगा। मंत्र हैं…..
    “ॐ प्रां प्रीं प्रौं शः शनैश्चराय नमः”
  •  9 वें भाव के स्वामी ग्रह को मजबूत करें। हलके नीले रंग का प्रयोग करें।
  • एक कोई नदी की आरपार यात्रा कर लें। विदेश जाने के योग बनने लगेंगे।
  •  विदेश में स्थायी निवास के लिए….. एक चुटकी हल्दी पावडर डालकर नहाये।
    एक कांच में हल्दी रखकर तकिया के नीचे रखकर सोएं।
    माँ दुर्गा लक्ष्मी को रोज सुबह लाल फूल चढ़ायें।
Spread the love

LEAVE A REPLY