महाकुंभ का दूसरा शाही स्नान आज…

0
48

महाकुंभ में देश-विदेश से आ रहे श्रद्धालुओं का जमावड़ा लगा हुआ है हरिद्वार में शाही स्नान को लेकर अद्भुत छटा बिखरी हुई है महाशिवरात्रि के बाद महाकुंभ का आज यह दूसरा शाही स्नान है और साथ ही हरिद्वार महाकुंभ का यह पहला ऐसा स्नान होगा, जिसमें सभी 13 अखाड़े शामिल होंगे इससे पहले 11 मार्च को हुए महाशिवरात्रि स्नान पर केवल सात संन्यासी अखाड़ों ने ही स्नान किया था।

बता दें कि 12 और 14 अप्रैल के शाही स्नान पर आम श्रद्धालु हरकी पैड़ी के घाटों पर डुबकी नहीं लगा पाएंगे वो केवल हरकी पैड़ी क्षेत्र संतों के स्नान के लिए आरक्षित होगा बाहरी राज्यों से आने वाले श्रद्धालुओं को पार्किंग स्थलों के नजदीक बने घाटों पर ही स्नान करवाया जाएगा।

क्या होता है शाही स्नान

महानिर्वाणी अखाड़े के सचिव महंत रविन्द्र पुरी महाराज का कहना है कि शाही स्नान के मौके पर विभिन्न अखाड़ों के साधु-संत सोने-चांदी की पालकियों, हाथी-घोड़े पर बैठकर स्नान के लिए पहुंचते हैं. सब अपनी-अपनी शक्ति और वैभव का प्रदर्शन करते हैं. इसे राजयोग स्नान भी कहा जाता है, जिसमें साधु और उनके अनुयायी पवित्र नदी में तय वक्त पर डुबकी लगाते हैं. माना जाता है कि शुभ मुहूर्त में डुबकी लगाने से अमरता का वरदान मिल जाता है. यही वजह है कि ये कुंभ मेले का अहम हिस्सा है और सुर्खियों में रहता है. शाही स्नान के बाद ही आम लोगों को नदी में डुबकी लगाने की इजाजत होती है.

 

Spread the love

LEAVE A REPLY