Delhi High Court: त्योहार के लिए जिंदा रहना जरूरी है

0
23

दिल्ली में प्रदूषण के बाद अब कोरोना के मामले थमने का नाम नही ले रहे है। कोरोना संक्रमण की बढ़ती संख्या को देख प्रशासन ने लॉकडाउन की बात भी कही। सरकार इससे बचाव के लिए हर संभव कदम उठा रही है। जिस पर अब दिल्ली हाई कोर्ट ने राजधानी में सार्वजनिक स्थलों पर छठ पूजा की इजाजत देने से इनकार कर दिया है।

मामले की सुनवाई करते हुए कोर्ट ने कोरोना महामारी के कारण सार्वजनिक स्थानों जैसे तालाब और नदी के किनारे पर छठ पूजा समारोह पर प्रतिबंध लगाने के दिल्ली सरकार के फैसले में हस्तक्षेप करने से इनकार कर दिया। कोर्ट ने कहा कि त्योहार मनाने के लिए जिंदा रहना जरुरी है।

जस्टिस हेमा कोहली और सुब्रमणियम प्रसाद की पीठ ने कहा कि छठ पूजा के लिए अनुमति देना संक्रमण के सुपर स्प्रेडर के रूप में कार्य करेगा। कोर्ट ने कहा कि याचिकाकर्ता को दिल्ली के हालात के बारे में जानकारी लेनी चाहिए। हाई कोर्ट ने दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (DDMA) के अध्यक्ष के आदेश को चुनौती देने वाली याचिका को खारिज कर दिया, जिसमें 20 नवंबर को छठ पूजा के लिए सार्वजनिक स्थानों पर किसी भी सभा को अनुमति नहीं दी गई थी।

Spread the love

LEAVE A REPLY