इन पांच क्रिकेटर्स को धोनी से ज्यादा सैलरी दे रहा है BCCI

0
877

देश में क्रिकेट चलाने वाली बॉडी बीसीसीआई ने क्रिकेटरों से कॉन्ट्रेक्ट कर लिए हैं. अक्टूबर से हमारे क्रिकेटर बिना किसी कॉन्ट्रेक्ट के खेल रहे थे. यानी क्रिकेट बोर्ड खिलाड़ियों से अनुंबध करता है और उसी के हिसाब से उन्हें सालान वेतन देता है. विनोद राय की अध्यक्षता वाली कमेटी ऑफ एडमिनिस्ट्रेटर्स (COA) ने खिलाड़ियों को मिलने वाला बेतन तय किया है. इसमें इस बार भारी बढ़ोतरी की गई है. कुछ महीने पहले ये कमेटी कोहली और धोनी के साथ बैठी थी जिसमें ये मुद्दा उठा था हमारे टॉप खिलाड़ियों की सैलरी ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के क्रिकेटर्स से कम है. इसी को ध्यान में रखकर सेंट्रल कॉन्ट्रेक्ट्स में बदलाव किए गए हैं.

पहले क्रिकेटर्स की तीन श्रेणियां बनती थीं. टॉप ग्रुप में आने वाले प्लेयर्स को सालाना 2 करोड़ रुपए, दूसरे में 1 करोड़ रुपए और आखिरी में 50 लाख रुपए दिए जाते थे. मगर इस बार तीन की जगह चार ग्रुप बनाए गए हैं. अक्टूबर 2017 से सिंतबर 2018 के लिए सेंट्रल कॉन्ट्रेक्ट किए गए हैं. जानिए किसको कितना मिलेगा-

Grade A+: इसमें उन टॉप खिलाड़ियों को रखा गया है जो देश के लिए तीनों फॉरमेट यानी टेस्ट, वनडे और टी-20 में खेल रहे हैं और आगे भी इनके बने रहने की संभावना है. साथ ही इनकी आईसीसी रैंकिंग भी ध्यान में रखी जाती है. इनमें विराट कोहली, रोहित शर्मा, भुवनेश्वर कुमार, जसप्रीत बुमराह और शिखर धवन हैं. अब इन सब खिलाड़ियों को बोर्ड की तरफ से सालाना 7 करोड़ रुपए मिलेंगे. पिछले साल तक कोहली को 2 करोड़, रोहित, भुवी और बुमराह को 1-1 करोड़ मिला था. वहीं शिखर धवन तो 50 लाख वाली श्रेणी में थे. इस बार मोटी रकम से ये सभी एक बराबरी पर आ गए हैं.

Grade A: इसके बाद नंबर आता है उन खिलाड़ियों का जो तीनों फॉरमेट के लिए नहीं खेल रहे हैं. इन्हें 5 करोड़ रुपए सालाना का वेतन मिलेगा. इनमें सबसे पहले महेंद्र सिंह धोनी हैं. धोनी केवल वनडे और टी-20 ही खेलते हैं. इनके अलावा मुरली विजय, आर अश्विन, रवींद्र जडेजा, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्या रहाणे और ऋद्धिमान साहा का नाम भी इस लिस्ट में है. धोनी को पिछले कॉन्ट्रेक्ट में 2 करोड़ रुपए मिले थे, जबकि अब ये रकम 5 करोड़ हो गई है. बावजूद इसके धोनी को भुवी और बुमराह से कम सैलरी मिलेगी.

Grade B: इस कैटेगरी के क्रिकेटरों को 3 करोड़ रुपए सालाना दिया जाएगा. इसमें नाम है केएल राहुल, उमेश यादव, इशांत शर्मा, युजवेंद्र चाहल, हार्दिक पंड्या, दिनेश कार्तिक और कुलदीप यादव का.

Grade C: ये आखिरी श्रेणी है जिसमें हरेक को 1 करोड़ रुपए सालाना का कॉन्ट्रेक्ट बोर्ड ने किया है. इनमें केदार जाधव, मनीष पांडे, अश्रर पटेल, करुण नायर, पार्थिव पटेल, जयंत यादव और सुरेश रैना शामिल हैं.

कॉन्ट्रेक्ट से बाहर: इस बार जिन क्रिकेटरों को सेंट्रल कॉन्ट्रेक्ट से बाहर किया गया है वो हैं- युवराज सिंह, ऋषभ पंत, अमित मिश्रा, अंबाटी रायुडू, शारदुर ठाकुर, मंदीप सिंह और धवल कुलकर्णी. वहीं टीम के फास्ट बॉलर मोहम्मद शमी के कॉन्ट्रेक्ट को अभी होल्ड कर लिया गया है क्योंकि उनकी पत्नी ने शमी पर घरेलू हिंसा और शादी से बाहर अवैध संबंध रखने का आरोप लगाया है.

इसी के साथ घरेलू क्रिकेटरों की भी मैच फीस बढ़ा दी गई है. बीसीसीआई के घरेलू टूर्नामेंट में खेलने वाले प्लेयर्स को प्रतिदिन 35 हजार और प्लेयिंग इलेवन से बाहर रहने वाले खिलाड़ी को 17,500 रुपए प्रतिदिन के हिसाब से मैच फीस मिलेगी. 

Spread the love

LEAVE A REPLY