आर्थिक तंगी के कारण 22000 रुपये में किया बच्चे का सौदा, पढ़े लॉकडाउन की सबसे दर्दनाक कहानियां

0
237

कोरोना वायरस के कारण लाखों लोगों से रोजगार छीन गया है और गरीब लोगों के पास खाने के लिए पैसे तक नहीं बचे हैं। सरकार की और से गरीब लोगों की मदद करने के लिए हर संभव कोशिश की जा रही है, लेकिन कई ऐसे गरीब परिवार है जिन तक ये मदद नहीं पहुंच पा रही है। जिससे मजबूर होकर इन परिवार वालों को पैसे कमाने के लिए गलत रास्ता चुनना पड़ रहा है।

हाल ही में तेलंगाना के हैदराबाद में एक परिवार ने अपनी आर्थिक स्थित से परेशान होकर अपने 2 महीने के बेटे को बेचने का फैसला किया। ताकि बच्चे को बेचकर इनके पास कुछ पैसे आ सकें।

करना पड़ा बच्चे का सौदा

ये दर्दनाक घटना हैदराबाद के जेडीमेतला इलाके का है। जहां पर एक मां को अपने 2 महीने के बेटे का सौदा करना पड़ा। ताकि बेटे को बेचकर उसके पास खाना खाने के लिए और परिवार को पालने के लिए कुछ पैसे आ सके। तेलंगाना के वारंगल के रहने वाले मदन सिंह और सरिता हैदराबाद में मजदूरी करते थे और मजदूरी करके अपने परिवार वालों का पेट पालते थे। लेकिन लॉकडाउन लगते ही इनकी पास कोई काम करने को नहीं बचा और इनके पास रखे सभी पैसे खत्म हो गए। लॉकडाउन के कारण परिवार पर आर्थिक समस्या आ गई। इस आर्थिक समस्या से बचने के लिए मदन और उसकी पत्नी सरिता ने अपने 2 महीने के बच्चे को बेचने का फैसला किया। ताकि जो पैसे उन्हें मिले उससे ये अपने गांव वापस जा सकें।

22 हजार में बेचा बच्चा

पुलिस के अनुसार मदन ने अपने बेटे को 22 हजार रुपये में बेचने का फैसला किया। वहीं जैसे की इस घटना के बारे में पुलिस को पता चला तो उन्होंने मदन और उसकी पत्नी सरिता को बच्चा बेचने से रोक दिया और साथ में ही इनकी मदद भी की। पुलिस ने ये शक भी जताया कि मदन शराब का आदी है और वो शराब के लिए बच्चे को बेचना चाहता था। वहीं चाइल्ड वेलफेयर कमिटी का कहना है कि बच्चे को बेचने का फैसला आर्थिक तंगी के कारण लिया गया है। मदन और उसकी पत्नी बच्चे को बेचकर जो पैसे मिलने वाले थे उसकी मदद से अपने गांव जाना चाहते थे।

पुलिस के अनुसार मदन और सरिता ने अपने एक दोस्त को बच्चा बेचने की कोशिश की थी। जिस दोस्त को ये अपना बेटा बेच रहे थे वो पहले से ही माता पिता हैं और उसका एक सात साल का बेटा भी है। वहीं इस घटना के सामने आने के बाद पुलिस ने तत्काल बच्चे को माता-पिता से लेकर अब शिशु विहार भेजा दिया है।

गौरतलब है कि कोरोना वायरस के कारण देश में लंबे समय से लॉकडाउन लगा हुआ है और इस लॉकडाउन के कारण कई लोग बेरोजगार हो चुके हैं। नौकरी ना होने की वजह से लोगों के पास खाने के लिए पैसे तक नहीं हैं और कई सारे लोग अपने घरों से दूर हैं।

देश के अलग-अलग हिस्सों से कई ऐसी तस्वीरें सामने आ रही हैं जिनको देखकर हर किसी का दिल बेहद ही दुखी हो रहा है।

ये तस्वीर कर्नाटक के बेंगलुरु से सामने आई है। जहां पर ये महिला अपने गांव बिहार जा रही है और इसने इतनी धूप में अपने बच्चे को कंधे पर उठाया हुआ है।

इस तस्वीर में एक पिता अपने बेटे को कंधे पर उठाकर अपने गांव ले जा रहा है। ये तस्वीर बिलासपुर के तिफरा ओवरब्रिज की है।

ये तस्वीर तेलंगाना की है। जहां पर अपने घर वापस जा रही एक महिला ने चलती ट्रेन में एक बच्ची को जन्म दिया।

.

ये तस्वीर उस समय की है जब झारखंड से छत्तीसगढ़ पैदल जा रही एक प्रवासी महिला ने बीच सड़क पर ही बच्चे को जन्म दिया।

ये सभी तस्वीरें साफ जाहिर कर रही है कि लॉकडाउन के कारण लोगों को कितनी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

Source link

Spread the love

LEAVE A REPLY