खुद चीन करेगा अब पाक का पर्दाफाश

0
34

मंगलवार को हुई BRICS देशों की वर्चुअल बैठक में आतंकवाद के खिलाफ खास रणनीति तय की गई। दरअसल आतंकवाद के मसले पर चीन भी BRICS देशों के साथ खुफिया सूचनाएं साझा करने के लिए तैयार हो गया है। BRICS बैठक में आतंकरोधी रणनीति पर मुहर को भारत की बड़ी सफलता माना जा रहा है। अगर इसपर सख्ती से अमल हुआ तो चीन के लिए पाकिस्तान का बचाव करना मुश्किल हो जाएगा। यह रणनीति आने वाले दिनों में आतंकवाद के समर्थन पर पाकिस्तान को घेरने में एक बड़ा हथियार साबित हो सकती है। इसमें BRICS के पांचों सदस्य देशों (ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका) के बीच आतंकवाद के मसले पर एक दूसरे का समर्थन करने का वादा किया गया है।

इसके अलावा BRICS आतंकरोधी रणनीति के दस्तावेज में कहा गया है कि आतंक को रोकने और मुकाबला करने के लिए सदस्य देशों के सुरक्षा और कानून-प्रवर्तन अधिकारियों के बीच व्यावहारिक सहयोग में सुधार करना जरूरी है। साथ ही समय पर सटीक जानकारी साझा करना शामिल है और यदि आवश्यक हो तो इस तरह के साझाकरण के लिए कानूनी ढांचा तैयार करने जैसे उपायों पर काम किया जाएगा।

BRICS देशों की उक्त रणनीति के 11 उद्देश्य बताए गए है। इसमें कहा गया है कि सभी देश अपनी जमीन का इस्तेमाल आतंकवादी संगठनों को संगठित करने, उन्हें प्रशिक्षित करने या उन्हें वित्‍तीय आदि किसी भी तरह की सुविधा देने के लिए काम नहीं करेंगे। साथ ही सभी देश यह सुनिश्चित करेंगे कि उनकी जमीन या नागरिकों का इस्तेमाल किसी दूसरे देश में आतंकी घटनाओं के लिए नहीं हो।

Spread the love

LEAVE A REPLY