पिता के आरोपों से घिरी शेहला रशीद, पढ़िए कौन है शेहला रशीद  

0
101

शेहला राशीद जवाहर लाल नेहरु विश्वविद्यालय छात्र संघ (JNSU) की पूर्व उपाध्यक्ष है। जिनके पिता ने उनपर देश विरोधी गतिविधियों में शामिल होने के आरोप लगाए है। दरअसल, JNU की पूर्व छात्रा शेहला राशिद के पिता ने ही उन पर देशद्रोह समेत कई गंभीर और संगीन आरोप लगाए है। यहां तक कि शेहला राशिद के पिता अब्दुल राशिद शौरा ने गंभीर आरोपों के बाबत पुलिस महानिदेशक को पत्र लिखकर जांच की मांग तक कर डाली है।

JNU के छात्र संघ की उपाध्यक्ष और सियासत में सिक्का आजमाना

आपको बता दें कि 2016 में जब JNU में एक विरोध के दौरान, शेहला राशिद JNU की उपाध्यक्ष थी और कन्हैया कुमार अध्यक्ष थे। देश विरोधी नारों के आरोप में घिरे कन्हैया को जेल तक जाना पड़ा था, लेकिन शेहला राशिद बची रहीं। उन्होंने कई मंचों पर कन्हैया कुमार पर लगे आरोपों का खंडन करने के साथ विरोध गुट के छात्र संगठन को कटघरे में खड़ा किया था। इसके अलावा शेहला ने सियासत में भी हाथ आजमाया है लेकिन इसमें
उनको सफलता नही मिल पायी। सबसे पहले शेहला जम्मू-कश्मीर की सबसे बड़ी पार्टी नेशनल कॉन्फ्रेंस में शामिल हुई थी। इसके बाद यहां से मोहभंग हुआ तो उन्होंने प्रशासनिक सेवा की नौकरी छोड़कर राजनीति में आए शाह फैसल की पार्टी JKPM को ज्वाइन की थी। इस पार्टी से टिकट पर शेहला ने चुनाव भी लड़ा था, लेकिन कामयाबी नहीं मिली तो राजनीति से ही तौबा कर ली और आखिरकार संन्यास तक ले लिया।

सेना पर टिप्पणी और 370 हटाए जाने पर विरोध

अपने विवादित बयान के चलते चर्चा में रहने वाली शेहला ने साल 2019 में भारतीय सेना पर विवादित बयान दिए थे। शेहला राशिद ने कई ट्वीट कर भारतीय सेना पर कश्मीरी लोगों पर अत्याचार करने के संगीन आरोप लगाए थे। इन ट्वीट के मद्देनजर दिल्ली पुलिस ने शेहला के खिलाफ राजद्रोह का केस दर्ज किया था। भारतीय सेना ने भी शेहला के आरोपों पर सफाई देते हुए उन्हें खारिज कर दिया था। फिलहाल यह मामला कोर्ट में है। इसके बाद 2019 में जब कश्मीर से आर्टिंकल-370 हटाए जाने का बिल संसद में पास हुआ था, तो शेहला राशिद ने इसका जमकर विरोध किया था। जम्मू-कश्मीर में आर्टिकल 370 खत्म किए जाने के बाद कई विवादित बयान दिए थे। वह जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल-370 हटाए जाने को लेकर कई मंचों पर विरोध दर्ज करा चुकी है।

पिता ने बताया बेटी को खतरा साथ ही लगाए मनी लॉन्ड्रिंग के आरोप

पिता के आरोपों के मुताबिक, उनकी बेटी शेहला राशिद से उन्हें जान का खतरा है। पिता अब्दुल रशीद शौरा का कहना है कि उनकी बेटी शेहला रशीद देशद्रोह समेत कई देश विरोधी गतिविधिय़ों में शामिल है। इसके साथ उन्होंने पूरे मामले की जांच करने की मांग की है। पिता अब्दुल रशीद शौरा का कहना है कि  मनी लांर्डिंग मामले में पहले ही इंजीनियर रशीद और जुहूर वटाली गिरफ्तार है। इन दोनों नेताओं ने उनकी बेटी को नई पार्टी में शामिल होने के लिए तीन करोड़ रुपये के पैकेज की पेशकश की थी। उनका कहना है कि जब उन्होंने  बेटी शेहला रशीद को इसके लिए मना किया तो उसने धमकी दी। वहीं, शेहला राशिद ने आरोपों के बाबत बयान दिया है कि उनके पिता के आरोप बेबुनियाद है और उनका कोई आधार नहीं है।

Spread the love

LEAVE A REPLY